युवा सिंगर ध्‍वनि भानुशाली ने कहा, मेरा मुकाम काफी मुश्‍किल था

ध्वनि भानुशाली भारत की ऐसी सबसे युवा आर्टिस्ट हैं, जिनके दो गानों को यूट्यूब पर कुल मिलाकर 1 बिलियन (100 करोड़) से अधिक व्यूज मिल चुके हैं। 2018 में आई फिल्म ‘वेलकम टू न्यू यॉर्क’ के गाने ‘इश्तेहार’ से उन्होंने सिंगिंग डेब्यू किया था। इस गाने को राहत फतेह अली खान ने भी आवाज दी थी। ध्वनि ने अपने करियर ड्रीम और पर्सनल लाइफ को लेकर बात की।
‘सब-कुछ आसानी से नहीं मिला’
ध्वनि कहती हैं, “मेरा इस मुकाम तक पहुंचना काफी मुश्किल था। सभी को लगता है कि मेरे पिताजी (टी-सीरीज में को-प्रोड्यूसर) टी-सीरीज में काम करते हैं इसलिए मुझे सब कुछ काफी आसानी से मिला है लेकिन यह बात सच नहीं है। जो भी मैंने हासिल किया है, उसके लिए मुझे भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। मेरे पिताजी ने हमेशा लोगों को यही कहा है कि अगर मुझमें काबिलियत है तो ही मुझे गाने का मौका दें। आखिरकार आवाज तो मेरी ही बाहर जा रही है। गाने वाली मैं हूं, मेरे पिताजी नहीं। अंत में आपका टैलेंट ही काम आता है। मैं टी-सीरीज का शुक्रिया अदा करती हूं कि उन्होंने प्रमोशन में और मार्केटिंग में पैसे डाले।”
‘इंडिया में पॉप को बड़ा दर्जा नहीं मिला’
बकौल ध्वनि, “इंडिया में पॉप को इतना बड़ा दर्जा नहीं मिलता, जितना अमेरिका में मिलता है। यहां प्लेबैक सिंगिंग को ज्यादा तवज्जो दी जाती है। सिर्फ पंजाब में पॉप गानों को इंपॉर्टेंस मिलती है। अब धीरे-धीरे यह सब बदल रहा है और पॉप को महत्व मिलना शरू हो गया है। अभी हमारे यहां पॉप की अलग इंडस्ट्री नहीं है, जैसी बाहर के देशों में है। 90 के दशक में पॉप उभर कर आ रहा था। अब सिर्फ प्लेबैक सिंगिंग ज्यादा नजर आती है, लेकिन भविष्य में लोग पॉप को सुनेंगे।”
‘पॉप आइकन बनने का सपना’
अपने अचीवमेंट्स को लेकर ध्वनि कहती हैं, “मैं सिर्फ 21 साल की हूं। मेरे यह सब नया है। थोड़ा समय लगेगा मुझे इन सब चीजों से यूज टू होने में। जब आपके गाने को इतना ज्यादा पसंद किया जाता है तो खुशी तो होती ही है। मेरा सपना एक बहुत बड़ी पॉप सिंगर बनने का। मुझे बहुत बड़ा पॉप आइकन बनना है।”
‘कॉलेज में पढ़ाई करने का बड़ा मन था’
ध्वनि ने आगे कहा, “कुछ छोटी-छोटी चीजें हैं, जिन्हें मिस करती हूं। मुझे कॉलेज जाकर और पढ़ाई करने का मन था, लेकिन सिंगिंग में आने के बाद यह मौका नहीं मिल रहा। वैसे तो मैं इस फेज का आनंद भी अच्छे से ले रही हूं।”
‘सफल होने के फायदे ही, नुकसान कुछ भी नहीं है’
ध्वनि कहती हैं, “मुझे अपने फैंस से मिलना और फोटो खिंचवाना पसंद है। ऑटोग्राफ देना भी काफी अच्छा लगता है। मुझे लगता है कि सक्सेसफुल होने के फायदे ही नुकसान कुछ भी नहीं है।”
पर्सनल लाइफ से जुड़े कुछ फैक्ट्स
ध्वनि को बचपन से ही सजने संवरने का बहुत शौक है।
मां की ड्रेसिंग टेबल से वह अक्सर क्रीम और मेकअप का सामान बिना किसी को बताए निकाल लेती थीं।
एडवेंचर स्पोर्ट्स में भी ध्वनि का बचपन से ही इंट्रेस्ट रहा है।
घुड़सवारी, निशानेबाजी के अलावा वह वाटर स्पोर्ट्स में भी अव्वल रही हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *