नोएडा में कोरोना के मामले बढ़ने पर म‍िशन मोड में योगी सरकार

लखनऊ। नोएडा में कोरोना के मामले बढ़ने पर राज्य सरकार म‍िशन मोड  में लगातार कोरोना केसेस पर अपडेट कर रही है, स्पेशल अध‍िकारी भी न‍ियुक्त क‍िए गए हैं। अभी अभी प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, अमित मोहन प्रसाद ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में बताया क‍ि जहां भी पाॅजिटिव केस आ रहे हैं या जो उनके काॅन्टैक्ट्स में हैं, उन्हें भी ‘क्वारंटाइन’ किया जा रहा है।

गौतमबुद्ध नगर पर भी विशेष ध्यान है, जहां एक फैक्ट्री के कई कर्मचारी संक्रमित हुए हैं। वहां जो पाॅजिटिव हैं उनके परिवार के सदस्यों व जिनमें कुछ लक्षण मिले हैं, ऐसे सदस्यों को फैसिलिटी क्वारंटाइन में रखा है।

गाजियाबाद और नोएडा में जो भी केस बढ़े हैं, उस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया है कि एक वरिष्ठ अधिकारी को इन सारी स्थिति पर निगरानी और मुस्तैदी से काम करवाने के लिए तैनात किया जाए।

अमित मोहन प्रसाद ने बताया क‍ि इस क्रम में वरिष्ठ अधिकारी डाॅ. ए.पी. चतुर्वेदी को एक महीने के लिए वहां पोस्ट किया गया है। दोनों ही जनपदों के सीएमओ और सी.एम.एस. कोरोना वायरस से सम्बंधित सभी प्रकरणों के बारे में उन्हें रिपार्ट करेंगे।

आइसोलेशन और क्वारंटाइन बेड्स की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। 200 अतिरिक्त वेंटीलेटर क्रय करने का प्रस्ताव भी NHL को भेजा गया है ताकि हम वेंटीलेटर के बेडों की संख्या बढ़ा सकें।

अभी तक जितने भी प्रकरण आए हैं, उनमें किसी की भी स्थिति ऐसी नहीं हुई कि उन्हें इंटेंसिव केयर या वेंटीलेटर पर रखना पड़ा हो। अधिकांश माइल्ड केसेज रहे हैं और फिर वह अपनी अवधि पूरी होने के बाद विसंक्रमित हो गए।

08 प्रयोगशालाओं में सैम्पल टेस्टिंग का कार्य चल रहा है। लखनऊ में तीन, मेरठ, अलीगढ़, वाराणसी, गोरखपुर और सैफई में एक-एक प्रयोगशाला चल रही है।

अमित मोहन प्रसाद ने आगे बताया क‍ि अभी तक कुल 2,284 सैम्पल परीक्षण के लिए भेजे गए हैं। इनमें से 2,171 रिपोर्ट्स निगेटिव प्राप्त हुई हैं। 68 मामले पॉजिटिव प्राप्त हुए हैं और 45 सैम्पल अभी भी टेस्टिंग में हैं।

अब तक कोरोना वायरस के 68 केस सामने हैं। 14 मरीजों का पूर्णतः उपचार हो चुका है और वो विसंक्रमित होकर घर वापस जा चुके हैं। शेष 54 मरीज विभिन्न मेडिकल कॉलेजों व जिला चिकित्सालयों में भर्ती हैं। सभी की हालत स्थिर है।

मेरठ में एक क्लस्टर बना है क्योंकि वहां 5 प्रकरण सामने आए हैं। वहां पर कन्टेन्मेंट की एक्सरसाइज की जा रही है।

वहां से पाॅजिटिव लोगों के क्लोज काॅन्टैक्ट्स वाले 50 लोगों में से 18 को मेडिकल काॅलेज में और 32 को ‘फैसिलिटी क्वारंटाइन’ में रखा गया है।

-Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *