यस बैंक ने अनिल अंबानी के हेडक्वॉर्टर पर पजेशन के लिए नोटिस भेजा

नई दिल्‍ली। कर्ज नहीं चुका पाने की वजह से यस बैंक अनिल अंबानी के सांताक्रूज स्थित रिलायंस ग्रुप के हेडक्वॉर्टर पर जल्‍द कब्जा करने वाला है। यह कार्यवाही रिलायंस इंफ्रा पर बैंक के 2900 करोड़ के लोन से जुड़ी है।
एक जमाने में यश बैंक और अनिल अंबानी दोनों के सितारे बुलंद थे। फिलहाल दोनों के सितारे गर्दिश में हैं। इससे इतर लोन डिफॉल्ट को लेकर यस बैंक ने अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया है। बैंक ने सांताक्रूज स्थित रिलायंस के हेडक्वॉर्टर को नोटिस ऑफ पजेशन भेजा है। बैंक ने हेडक्वॉर्टर के अलावा साउथ मुंबई स्थित रिलायंस के दो अन्य ऑफिस के लिए भी यह नोटिस जारी है।
रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर पर है कर्ज
यस बैंक ने कहा कि उसने रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर को 2892 करोड़ का लोन दिया था। यह प्रक्रिया उसकी रिकवरी के सिलसिले में अपनाई गई है। बैंक ने रिलायंस के नागिन महल स्थित ऑफिस का दो फ्लोर अपने अधिकार में लिया है। बैंक को अधिकार है कि वह डिफॉल्टर के असेट को अपने अधिकार में ले और उसकी बिक्री कर कर्ज की भरपाई करे।
कार्यवाही से पहले नोटिस जारी किया गया था
यस बैंक अभी खुद संकट से जूझ रहा है। बैंक पर बैड लोन का बहुत बड़ा बोझ है जिसे हल्का किया जा रहा है। अनिल अंबानी ग्रुप पर कंपनी का करीब 12 हजार करोड़ का बकाया है। बैंक ने कहा कि उसने इस कार्यवाही से पहले रिलायंस ग्रुप को 60 दिनों का नोटिस जारी किया था, जिसकी मियाद 5 मई को समाप्त हुई। कंपनी रीपेमेंट करने में फेल रही जिसके बाद बैंक ने SARFAESI Act 2002 के तहत यह कार्यवाही की है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *