शी जिनपिंग की पार्टी के सक्रिय सदस्‍य को घूसखोरी में मिली मौत

पेइचिंग। चीन ने भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करते हुए हुआरोंग एसेट मैनेजमेंट कंपनी के पूर्व चेयरमैन लाई शियाओमिन को मौत की सजा दी है। यह बैंकर शी जिनपिंग की पार्टी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना का सक्रिय सदस्य भी था। इसके बावजूद न्यायपालिका ने देश से भ्रष्टाचार मिटाने और लोगों के बीच घूसखोरी को लेकर दहशत पैदा करने के लिए इस बैंकर को मौत दी है। जांच के दौरान शियाओमिन के पेइचिंग स्थित अपार्टमेंट से भारी मात्रा में पैसे भी बरामद हुए थे।
मौत के तरीके का खुलासा नहीं
शियाओमिन को चीनी कोर्ट ने 5 जनवरी को मौत की सजा सुनाई थी। जिसके बाद 29 जनवरी को उन्हें मौत दे दी गई। चीनी मीडिया ने अभी तक यह नहीं बताया है कि इस बैंकर को मौत देने के लिए किस तरीके को चुना गया था। चीन में मौत की सजा देने के लिए आधिकारिक तौर पर फांसी या जहर वाला इंजेक्शन दिया जाता है।
2026 करोड़ रुपये की घूसखोरी का था मामला
चीन के इस बैंकर के ऊपर 2008 से लेकर 2018 के बीच लगभग 2026 करोड़ रुपये की घूसखोरी का आरोप लगाया गया था। लंबी सुनवाई के बाद चीन की तिआनजिन पीपुल्स कोर्ट ने 5 जनवरी को बैंकर को दोषी मानते हुए मौत की सजा का ऐलान किया था। जिसके बाद चीन की सुप्रीम कोर्ट ने भी शियाओमिन की फांसी की सजा को रिव्यू किया लेकिन सबूतों को देखते हुए बैंकर की मौत की सजा को बरकरार रखा गया।
दो-दो शादियां करने का भी था आरोप
इस बैंकर ने अपनी पहली पत्नी और बच्चों को छोड़कर नया परिवार भी बसा लिया था। जिसके बाद कोर्ट ने इस मामले पर भी फैसला सुनाते हुए किसी और महिला के साथ रहने का दोषी पाया था। जिसके बाद कोर्ट ने दोनों मामलों में दोषी बताते हुए न केवल उसकी सभी संपत्तियों को सीज कर दिया, बल्कि उसके सभी राजनीतिक अधिकारों को भी खत्म कर दिया था।
एक और बैंकर को उम्रकैद की सजा दे चुका है चीन
चीन ने इसी साल जनवरी शुरुआत में एक प्रमुख सरकारी बैंक के पूर्व प्रमुख को भ्रष्टाचार के मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। चेंगदे की कोर्ट ने हु हुआएबांग नाम के एक पूर्व बैंक अधिकारी को 2009 से 2019 के बीच 8.55 करोड़ युआन (करीब 97 करोड़ रुपये) रिश्वत लेने का दोषी ठहराया था। हु कर्ज देने वाले दुनिया के सबसे धनी बैंकों में से एक चीन विकास बैंक में कम्युनिस्ट पार्टी के सचिव भी थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *