वुहान लैब की तस्‍वीरों ने बताया चीन का सच तो तस्‍वीरें डिलीट कीं

बीजिंग। चीन की वुहान लैब से ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जिनमें यहां टूटी हुई सील दिखाई दे रही हैं। इसके बाद एक बार फिर सवालों को बल मिल गया है कि कोरोना वायरस यहां से लीक हुआ था। अमेरिका भी लैब को लेकर जांच की बात कह चुका है। वहीं, अब कुछ तस्वीरों के आधार पर दावा किया जा रहा है कि वुहान के इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के एक फ्रिज की सील टूटी हुई थी जिसमें वायरस रखे गए थे।
क्या कोरोना वायरस वुहान लैब से निकला था, फिलहाल इस सवाल से चीन का पीछा छूटता नहीं दिख रहा है। एक ओर जहां चीन पहले ही दूसरे देशों के सवालों से परेशान है कि आखिर वायरस कैसे फैला और इसे पहले कंट्रोल क्यों नहीं किया गया, दूसरी ओर वुहान लैब की पुरानी तस्वीरें सामने आई हैं।
कहा जाता है कि वुहान की इस लैब में सेफ्टी और सिक्योरिटी बहुत पुख्ता है लेकिन सामने आई तस्वीरों में कहानी कुछ और ही नजर आ रही है।
ट्विटर पर पोस्ट, फिर डिलीट तस्वीरें
अंग्रेजी अखबार डेली मेल के मुताबिक ये तस्वीरें पहली बार चाइना डेली अखबार ने 2018 में रिलीज की थीं। ये तस्वीरें पिछले महीने भी ट्विटर पर पोस्ट की गईं लेकिन बाद में इन्हें डिलीट कर दिया गया था। ट्विटर पोस्ट होने के साथ ही ये सवालों के घेरे में आ गईं क्योंकि लोगों को इस लैब की ऐसी खामियां दिखने लगीं जिनसे लैब से वायरस लीक पर उठ रहे सवालों को बल मिल गया है।
‘इससे बेहतर फ्रिज की सील’
तस्वीरों में दिख रहे केस की सील पर लोगों ने सवाल किया है। एक यूजर ने लिखा है, ‘मैंने इनसे बेहतर सील तो अपने किचन के फ्रिज में देखी है।’ बता दें कि यह लैब दुनिया के उन चंद लैब में से है जिन्हें क्लास 4 पैथोजेन्स यानी पी4 स्तर के वायरस के प्रयोग की अनुमति है। ये खतरनाक वायरस हैं जिसके इंसान से इंसान में संक्रमण का सबसे अधिक खतरा रहता है।
अमेरिका चाहता है चीन की जवाबदेही
कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका चीन पर हमलावर रहा है और ऐनिमल मार्केट से वायरस फैलने की पेइचिंग की थियरी पर वह यकीन नहीं कर रहा। चीन पर नोवेल कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी छुपाने का आरोप लगाते हुए अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा है कि राष्ट्रपति शी चिनपिंग के नेतृत्व वाली सरकार को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए और उन्हें बताना चाहिए कि कैसे कोविड19 महामारी तेजी से पूरी दुनिया में फैली।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *