अमृतसर ट्रेन हादसे पर दुनियाभर ने शोक संवेदनाएं व्‍यक्‍त कीं

अमृतसर के पास हुए भीषण ट्रेन हादसे पर दुनियाभर से शोक संवेदनाएं व्यक्त की गई हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान समेत कई अंतर्राष्ट्रीय नेताओं ने हादसे पर अपनी संवेदनाएं जताई हैं। संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने हादसे में मारे गए 60 से अधिक लोगों के परिवार और मित्रों के प्रति संवेदनाएं जताई। उन्होंने इस घटना को “दुखद” बताया।
गौरतलब है कि अमृतसर में जोड़ा फाटक के नजदीक शुक्रवार शाम को रावण दहन देखने के लिए रेल की पटरियों पर खड़े लोग एक ट्रेन की चपेट में आ गए जिसमें कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई और 72 अन्य घायल हो गए।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी इस हादसे पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने सोशल मीडिया ट्विटर पर लिखा, “अमृतसर में त्रासद ट्रेन दुर्घटना के बारे में जानकर दुख पहुंचा है। मृतकों के परिवार वालों के लिए मेरी संवेदनाएं।”
गुतारेस ने एक ट्वीट कर कहा, “शुक्रवार की दुखद घटना के बाद मेरी संवेदनाएं अमृतसर के लोगों के साथ है। इस महीने मुझे स्वर्ण मंदिर जाने और लोगों का उत्साह तथा उदारता देखने का अवसर मिला था। इस हादसे में अपने परिवार के सदस्य और प्रियजन को गंवाने वाले लोगों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।”
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने भी घटना पर दुख जताया।
उन्होंने टि्वटर पर कहा, “भारत के अमृतसर में दुखद ट्रेन हादसे में मारे गए अपने प्रियजन को गंवाने वाले लोगों के लिए मैं संवेदना व्यक्त करता हूं। कनाडावासी आज रात को अपने दिलों में आपको याद कर रहे हैं और वे घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं।”
इस बीच, नई दिल्ली में रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने भी हादसे को लेकर भारत के प्रति संवेदनाएं जताई।
रूसी दूतावास के अनुसार, पुतिन ने ट्रेन दुर्घटना पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी संवेदना प्रकट की।
उन्होंने ट्रेन हादसे के पीड़ित परिवारों के प्रति अपना समर्थन जताया।
पुतिन ने कहा, “मैं पंजाब में रेल इस हादसे के दुखद परिणामों पर गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के सदस्यों तथा दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना तथा समर्थन पहुंचाएं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।”
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *