World Hypertension Day: हर 4 में से एक व्यक्ति को हाइपरटेंशन

WHO के मुताबिक दुनियाभर में 1.13 बिलियन लोगों को हाइपरटेंशन है। हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने के लिए सही समय पर अगर ध्यान ना दिया जाए तो यह जानलेवा भी साबित हो सकती है। आइए विश्व हाइपरटेंशन दिवस 2020 पर हाइपरटेंशन से जुड़ी हर एक जानकारी के बारे में जानते हैं।
कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच में ऐसी कई स्वास्थ्य समस्याएं हैं जिससे लोगों का ध्यान पूरी तरह से हट गया है लेकिन यह स्वास्थ्य समस्याएं हर साल लाखों लोगों की जान लेती हैं। ऐसी ही एक मेडिकल कंडीशन हाइपरटेंशन है जिसके बारे में सही समय पर अगर ध्यान ना दिया जाए तो यह जानलेवा भी साबित हो सकती है।
इतना ही नहीं, हर 4 में से एक व्यक्ति को हाइपरटेंशन की समस्या होती है लेकिन उन्हें ना तो उसके लक्षण के बारे में पता होता है और ना ही वह इसके प्रति सतर्क रहते हैं। आइए विश्व हाइपरटेंशन दिवस 2020 पर हाइपरटेंशन से जुड़ी हर एक जानकारी के बारे में जानते हैं।
पहले जानें क्या है हाइपरटेंशन?
हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर एक गंभीर चिकित्सा स्थिति है जो हार्ट अटैक, स्ट्रोक, किडनी फेल और अंधेपन के जोखिम को बढ़ाती है। यह दुनिया भर में समय से पूर्व होने वाली मौत के प्रमुख कारणों में से एक है। WHO के मुताबिक दुनियाभर में 1.13 बिलियन लोगों को हाइपरटेंशन है। हाइपरटेंशन के मुख्य कारण में खराब खान-पान, व्यायाम न करना, शराब और तंबाकू का सेवन करना माना जाता है।
विश्व हाइपरटेंशन दिवस को इसलिए मनाया जाता है ताकि पूरी दुनिया के लोगों को इसके बारे में जागरूक किया जा सके। इस बार विश्व हाइपरटेंशन दिवस पर इसकी थीम, “मीजर योर बल्ड प्रेशर, कंट्रोल इट और लिव लॉन्गर ( Measure your blood pressure, control it and live longer)” है। इसका मतलब यह है कि अपने ब्लड प्रेशर को चेक करिए, इसे कंट्रोल करिए और लंबे समय तक जीवित रहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक हर चार में से एक पुरुष और हर पांच में से एक महिला को हाइपरटेंशन की समस्या होती है। फिर भी लोग इसको नजरअंदाज करते हैं। हाइपरटेंशन से जुड़ी कुछ खास जानकारी के बारे में आपको आगे बताया जा रहा है।
हाइपरटेंशन के कारण इस तरह होती हैं मौतें
हाइपरटेंशन के कारण कई प्रकार की मेडिकल कंडीशन भी पनपने लगती है, जिनसे व्यक्ति की मौत हो संभव है।
हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है
-स्ट्रोक आ सकते हैं
-किडनी फेल हो सकती है
-अंधेपन का खतरा बढ़ जाता है
इसके लक्षण क्या हैं?
-भयानक सिरदर्द
-थकान या भ्रम
देखने में समस्या महसूस होना
-सीने में दर्द
-सांस लेने मे तकलीफ होना
-अनियमित रूप से दिल की बढ़ने वाली धड़कन
-यूरिन में ब्लड दिखना
ब्लड प्रेशर का यह लेवल है खतरे की घंटी
हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से बचे रहने के लिए नियमित रूप से ब्लड प्रेशर को चेक की सलाह दी जाती है। इस दौरान जिन व्यक्तियों का ब्लड प्रेशर 140/90 आ रहा है, उन्हें बिना देर किए डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। ब्लड प्रेशर का यह लेवल आपकी सेहत के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है।
नियमित रूप से चेक करें अपना ब्लड प्रेशर
कई लोगों का यह कहना होता है कि उनमें हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती ही नहीं है।
दरअसल, ऐसा कहना बिल्कुल गलत हो सकता है क्योंकि हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में कुछ व्यक्तियों को विशेष लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। इसलिए नियमित रूप से अपना ब्लड प्रेशर चेक करें। इसे कंट्रोल करने के लिए नीचे बताई जा रही कुछ टिप्स को अपना सकते हैं। स्थिति गंभीर होने पर आप डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।
हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से बचने के लिए क्या करें और क्या ना करें
हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से बचे रहने के लिए प्रतिदिन 5 ग्राम से अधिक नमक सेवन का ना करें
नियमित रूप से फल और हरी सब्जियां खाएं
जंक फूड खाने से बचें क्योंकि इसमें सैचुरेटेड फैट और ट्रांस फैट की मात्रा पाई जाती है जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को बढ़ा सकती है
तंबाकू और स्मोकिंग का सेवन बिलकुल न करें
अल्कोहल ना पिएं
नियमित रूप से व्यायाम करें
हाई ब्लड प्रेशर से बचने के लिए सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थ खाएं
हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए करें ये काम
मेडिकल ट्रीटमेंट का सहारा ले और डॉक्टर की सलाह का पालन करें
डॉक्टर के द्वारा दी गई दवाओं का नियमित रूप से सेवन करें
स्ट्रेस को कम करें और कोशिश करें कि स्ट्रेस बिल्कुल ना लें
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *