जीएल बजाज में Investment पर हुई कार्यशाला

मथुरा। जीएल बजाज ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूशन्स के प्रबन्धन विभाग ने Investment पर एक महत्वपूर्ण कार्यशाला का आयोजन किया। इस कार्यशाला के मुख्य अतिथि और सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया द्वारा प्रमाणिक प्रशिक्षक पराग गौतम रहे। उन्होंने संस्थान के मौजूद दर्जनों शिक्षकों और स्टाफ को कम्पनियों में निवेश करने के तरीकों की जानकारी दी। साथ ही किन-किन कम्पनियों में Investment करना घाटे का रहेगा। कितना रिस्क होगा। इससे कैसे बचा जाए जैसे बिंदुओं पर खूब चर्चा की। कार्यक्रम का शुभारंभ संस्थान के निदेशक डा. एलके त्यागी ने दीप प्रज्ज्वलित कर की।

जीएल बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस के निदेशक डा. एल के त्यागी ने कार्यशाला का शुभारंभ करने के बाद कहा कि व्यक्ति को अपनी बचत को अच्छा लाभ देने वाली कम्पनी में ही निवेश करना चाहिए। इससे उनको अच्छा लाभांश मिल सके। उन्होंने कार्यशाला से पूर्व मुख्य अतिथि का बुके भेंट कर स्वागत भी किया। कार्यशाला में पराग गौतम ने निवेश एवं वर्तमान में उसकी महत्ता पर प्रकाश डाला। उन्होने किसी भी कम्पनी का नाम लिए अच्छा लाभ कमाने वाली कम्पनियों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कम्पनियों के बजाय उच्च क्वालिटी के उत्पादों को निगाह में रखकर निवेश करने की श्रोता को सलाह दी। विभिन्न प्रकार की वित्तीय योजनाओं एवं उनमें निवेश के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होने म्यूचलफंड, बीमा, रिंकरिंग डिपोजिट, आदि के बारे में विस्तार से चर्चा कर श्रोताओं एवं निवेशकर्ताओं की जिज्ञासाओं को शांत किया। उन्होने रिस्क एवं रिटर्न जैसे महत्वपूर्ण तथ्यों पर चर्चा करते हुये वर्तमान परिपेक्ष में निवेश की आवश्यकता एवं सावधानियों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन विभागाध्यक्ष प्रो. गजल सिंह ने किया।

आरके एजुकेशन हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अग्रवाल बोले-हर व्यक्ति बचत को निवेश करे

आरके एजुकेशन हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अग्रवाल ने कहा कि हर व्यक्ति को बचत करनी चाहिए। उस बचत को अच्छा रिटर्न देने वाली कम्पनियों में निवेश करने की जरुरत है। ऐसे जरुरत को देखते हुए जीएल बजाज ने अपने स्टाफ के लिए इस कार्यशाला का आयोजन किया गया। उन्होंने लोगों से ऐसी कार्यशाला में दिये सुझावों को अमल में लाने की सलाह दी।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *