4 फरवरी को ही क्यों मनाया जाता है World Cancer Day

आज दुनिया भर में World Cancer Day मनाया जा रहा है। World Cancer Day को मनाने के पीछे सबसे बड़ी वजह है क‍ि
कैंसर की पहचान या रोकथाम के उपाय और ख़तरों के बारे में आम लोगों को जागरूक क‍िया जाए। लोगों को लगता है कि यह बीमारी छूने से फैलती है इसलिए कैंसर से पीड़ित व्यक्ति को समाज में घृणा और अछूत के रूप में देखा जाता है।

कैंसर दुनिया की सभी जानलेवा बीमारियों में सबसे ख़तरनाक है क्योंकि कई बार इसके लक्षणों का पता ही नहीं चलता। जब इस बीमारी का खुलासा होता है, तब तक काफी देर हो चुकी होती है। यह पूरे शरीर में फैल चुका होता है। आज यानी 4 फरवरी को दुनिया भर के देशों के प्रतिनिधि एकत्र होते हैं और कैंसर (Cancer) से लड़ने की योजना बनाते हैं। लोगों को कैंसर के प्रति जागरूक करने की योजना पर चर्चा होती है।

आकंड़ों की मानें तो साल 2018 में कैंसर की बीमारी की वजह से दुनियाभर में 96 लाख से ज़्यादा मौतें हुई हैं। औरतों में आम तौर पर ब्रेस्ट कैंसर के मामले ज्यादा सामने आते हैं। इसके अलावा ब्लड कैंसर, लिवर कैंसर और ओरल कैंसर भी कम खतरनाक नहीं हैं।

World Cancer Day की स्थापना अंतरराष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण संघ (यूआईसीसी) द्वारा की गई थी. यह एक अग्रणीय वैश्विक एनजीओ है। इसका लक्ष्य विश्व कैंसर घोषणा, 2008 के लक्ष्यों की प्राप्ति करना है। इसका प्राथमिक लक्ष्य 2020 तक कैंसर से होने वाली मौतों को कम करना है। अंतरराष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण संघ (यूआईसीसी) की स्थापना साल 1933 में हुई थी।

आम लोगों में कैंसर से संबंधित विभिन्न प्रकार के सामाजिक मिथक हैं जैसे कि कैंसर पीड़ित के साथ रहने या स्पर्श से उन्हें भी ये घातक बीमारी हो सकती है। इस तरह के मिथक को ख़त्म करने के लिए भी यह दिवस मनाया जाता है। साथ ही इसके होने के कारण, लक्षण और उपचार जैसी सभी वास्तविकता के बारे में सामान्य जागरुकता बनाने के लिए इसे मनाया जाता है।

हर 8 मौतों में से 1 कैंसर की वजह से
विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तो दुनिया में हर साल होने वाली छह मौतों में एक की वजह कैंसर है। ब्रेस्ट, सर्वाइकल, प्रोस्टेट, मुंह और बड़ी आंत के कैंसर के मामले सबसे ज्यादा सामने आते हैं। इंडियन कैंसर सोसाइटी के अनुसार, भारत में अगले 10 सालों में करीब डेढ़ करोड़ लोगों को कैंसर होने की आशंका है। कहा जा रहा है कि इसमें 50 फीसदी कैंसर लाइलाज होगा।

– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *