कोरोना रहे या न रहे, लेकिन अगले साल ओलंपिक खेलों का आयोजन होगा

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति के उपाध्यक्ष का कहना है कि अगले साल ओलंपिक खेलों का आयोजन होगा चाहे तब तक कोरोना महामारी रहे या न रहे.
न्यूज़ एजेंसी एएफ़पी को ओलंपिक समिति के उपाध्यक्ष जॉन कोट्स ने कहा कि अगले साल 23 जुलाई से ओलंपिक प्रतियोगिता शुरू हो रही है.
हालांकि पहले ओलंपिक खेल जुलाई 2020 में शुरू होने वाले थे लेकिन कोरोना महामारी को देखते हुए तारीख़ आगे के लिए टाल दी गई थी.
अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति यानी आईओसी ने पहले भी कहा था कि वो प्रतियोगिता को साल 2021 से आगे नहीं खिसकाएंगे.
2011 में जापान में आई सुनामी और भूकंप का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि सुनामी की तबाही के बाद ओलंपिक को ‘पुनर्निर्माण खेल’ की थीम के साथ खेला गया.
उन्होंने कहा, “उसी तरह अब ये वो खेल कहे जाएंगे जिन्होंने कोविड पर जीत हासिल की, सुरंग ख़त्म होने के बाद आई एक रोशनी की तरह.”
बीते जुलाई में ‘टोक्यो 2020’ के मुख्य कर्ताधर्ता तोशिरो मुतो ने कहा था कि कम दर्शकों के साथ खेल का आयोजन किया जा सकता था लेकिन वे इस आशंका से बचना चाहते थे कि कहीं दर्शक बिल्कुल ही न आएं.
उन्होंने कहा था कि खेलों के उद्घाटन और समापन समारोह को थोड़ा सादा किया जा सकता है और हर देश से आने वाले कर्मचारियों और प्रतिनिधि मंडल की संख्या को भी कम किया जा सकता है.
साल 2020 में जो आयोजन होना था उसमें क़रीब 200 देशों के 11 हज़ार से ज़्यादा खिलाड़ी हिस्सा लेने वाले थे. अभी ये साफ़ नहीं है कि जब जापान की सीमा विदेशियों के लिए बंद है, तब पांबदियों का असर प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वालों पर कैसे पड़ेगा.
तोशिरो मुतो ने कहा कि वैक्सीन का बन जाना खेलों की कोई शर्त नहीं थी, हालांकि विशेषज्ञों को चिंता थी कि बिना वैक्सीन के आए खेलों का आयोजन कैसे हो पाएगा.
उन्होंने कहा, “अगर वैक्सीन तैयार हो तो अच्छी बात होगी लेकिन हम ये नहीं कह रहे कि इसके बिना खेलों का आयोजन नहीं होगा, ये कोई शर्त नहीं है.”
अप्रैल में ‘टोक्यो 2020’ के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने कहा था कि अगर खेलों का आयोजन 2021 में नहीं हुआ तो प्रतियोगिता को रद्द करना पड़ेगा.
इस फ़ैसले पर ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बाह ने कहा, “आप हमेशा के लिए आयोजन समिति में 3-5 हज़ार लोगों को लगा कर नहीं रख सकते. आप हर साल दुनिया के सभी बड़े खेल संघों के कार्यक्रमों को बदल नहीं सकते.”
इस महामारी से पहले खेलों के आयोजन को सिर्फ़ एक बार युद्ध की वजह से रद्द किया गया है. इससे पहले कभी खेलों की तारीख़ को आगे के लिए नहीं टाला गया था.
हाल ही में भारतीय खेल प्राधिकरण ने जानकारी दी थी कि भारत के ओलंपिक दल के तीन खिलाड़ी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *