जब सोनम कपूर ने कहा, मेरे पिता अनिल कपूर बहुत बड़े झूठे हैं

मुंबई। यूं ही नहीं बेटियों को पापा की परी कहा जाता। बाप-बेटी का रिश्ता इस दुनिया में एक ऐसा रिश्ता है, जिनके प्यार के आगे किसी का भी टिकना नामुमकिन है। बेटी अगर अपनी मां की आंखों का तारा है तो पिता का अभिमान होती है। यही एक वजह भी है सख्त मिजाज होने के बाद भी पिता अपनी बेटी को परेशानी में देख बुरी तरह टूट जाते हैं। यही नहीं, बेटियों के लिए भी उनका पहला प्यार हमेशा उनके पिता ही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जब लड़कियां अपने लिए भावी साथी को पसंद करती हैं तो वह ज्यादातर उनमें अपने पिता के गुणों को खोजने की कोशिश करती हैं। ऐसा ही एक रिश्ता बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनम कपूर और उनके पिता अनिल कपूर के बीच भी है, जिनकी बॉन्डिंग किसी से छिपी नहीं है।
एक-दूसरे का सपोर्ट सिस्टम बनने वाले इस बाप-बेटी की जोड़ी में यूं तो आपको साहस, सुरक्षा, स्नेह, आकर्षण सब कुछ देखने को मिल जाएगा लेकिन जब बात आ जाए एक-दूसरे को छेड़ने की तो इस मामले में भी यह जोड़ी किसी से कम नहीं है। ऐसा ही हमें तब देखने को मिला जब सोनम ने सरेआम अपने पिता को झूठा साबित कर दिया।
दरअसल, एक इंटरव्यू में जब सोनम से पूछा गया कि उनके पिता की उम्र सिर्फ 52 साल है तो इस पर हंसते हुए उन्होंने कहा कि ‘वह बहुत बड़े झूठे हैं। उनकी उम्र इससे कहीं ज्यादा है।’ हालांकि, सोनम की बातों को सुनकर वहां बैठे सभी लोग हैरान हो गए लेकिन इस दौरान बाप-बेटी की गजब बॉन्डिंग सभी पर भारी पड़ी।
पिता से होती है पार्टनर की तुलना
बाप-बेटी के रिश्ते की खूबसूरती का अंदाजा आप इस बात से ही लगा लीजिए कि लड़कियों के लिए जब भी अपने पसंद के लड़के को चुनने की बारी आती है तो वह उस लड़के में अपने पिता के जैसे गुणों को ढूंढना शुरू कर देती हैं। जी हां, पिता बेटी की जिंदगी में वह पहला आदमी होता है जिसे वह बचपन से देखती आई हैं।
वह क्या करते हैं, कैसे रहते हैं, उनका मां के प्रति कैसा व्यवहार है। यह कुछ छोटी-छोटी बातें होती हैं, जिनका ज्यादातर लड़कियों पर प्रभाव पड़ता है। यही एक वजह है, जब सोनम से आनंद के बारे में पूछा गया तो एक्ट्रेस ने अपनी पति की तुलना अपने पिता करते हुए उन्हें सबसे अच्छा इंसान बताया।
ज्यादा देखभाल करना
चाहे उनकी पत्नी हो या उनका बेटा, एक पिता के लिए अपनी बेटियों की सबसे ज्यादा देखभाल करना पहला कर्तव्य होता है। एक पिता अपनी बेटी को किसी भी परेशानी से बचाने के लिए हर संभव प्रयास करता है। बेटी भी अपने पिता की खुशी के लिए सब कुछ छोड़ने को तैयार हो जाती है।
सिखाते हैं बहुत कुछ
पिता से प्यार पाने वाली लड़कियां ज्यादातर शिक्षा में अच्छी होती है। वह न केवल स्कूल में बेहतर करती हैं बल्कि उनके पिता भी अच्छा प्रदर्शन करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करते हैं। यही नहीं, एक पिता हमेशा अपनी बेटियों को जीवन के सबसे महत्वपूर्ण सबक के बारे में भी बतलाते हैं। वह इस बात को अच्छे से जानते हैं कि हमेशा मजबूत होना कुछ रिश्तों के लिए ठीक नहीं होता, कभी-कभी कमजोर होना और टूट जाना भी अपनी भलाई के लिए ठीक है।
आगे बढ़ने की प्रेरणा
इस बात में कोई दोराय नहीं कि एक पिता एक से अधिक तरीकों से अपनी बेटी के भविष्य को प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं। वे अपनी राजकुमारियों की लगातार देखभाल तो करते ही हैं, लेकिन अपनी बेटियों को सशक्त बनाना भी उनके लिए सबसे जरूरी काम में से एक है ताकि आगे चलकर उनकी बेटी किसी के लिए भी बोझ न बने।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *