जम्मू-कश्मीर में हम चुनाव कराने के लिए तैयार: केंद्र

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन को सही ठहराते हुए कहा है कि वहां की राजनीतिक परिस्थितियों को देखते हुए कोई और विकल्प बचा ही नहीं था। केंद्र ने संसद में कहा कि किसी भी राजनीतिक दल या गठबंधन ने सूबे में सरकार के गठन का दावा पेश नहीं किया था। हालांकि सरकार ने लोकसभा में इस संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि हम जल्द ही चुनाव कराने के लिए तैयार हैं।
संसद में एक प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने विपक्ष के दावों को खारिज करते हुए कहा कि बीजेपी ने किसी क्षेत्रीय दल से सरकार के गठन के लिए संपर्क नहीं किया था।
जम्मू कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद 356 लगाए जाने के संबंध में सांविधिक संकल्प पर चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘जम्मू कश्मीर में कोई भी गलत या अनैतिक कार्य इस सरकार के तहत नहीं होगा । ’
राज्य में चुनाव कराने के बारे में कुछ सदस्यों के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव कराना चुनाव आयोग का काम है. लेकिन हम पूरी तरह से तैयार हैं। अगर आयोग चुनाव के संबंध में सुरक्षा मांगता है तो हम प्रदान करेंगे। सिंह ने कहा कि केंद्र लोकतांत्रिक प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए पूरी तरह से तैयार है। जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने का बचाव करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि बीजेपी की मंशा पर सवाल नहीं किया जा सकता। अगर बीजेपी को सरकार बनानी होती तो वह छह महीने के समय में कोशिश कर सकती थी, लेकिन हमने नहीं किया।
उन्होंने जोर दिया कि हो सकता है कि एक-दो लोगों ने कोई प्रयास किया हो, लेकिन हमारी तरफ से या फिर हमारी सरकार की तरफ से कोई प्रयास नहीं हुआ। चूंकि सरकार बनाने को कोई तैयार नहीं था और इस बारे में राज्यपाल की रिपोर्ट थी, ऐसी परिस्थिति में अनुच्छेद 356 का प्रयोग किया गया । राज्यपाल के पास कोई विकल्प नहीं था।
सरकार बनाने के लिए कोई नहीं था तैयार
राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्होंने स्वयं एक बार राज्यपाल से पूछा कि क्या वहां कोई भी सरकार बनाने के लिए तैयार नहीं है? ‘मैंने अखबार में पढ़ा था कि नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी और कांग्रेस तीनों पार्टियां मिलकर सरकार बना सकती हैं। लेकिन सुबह मैंने राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद का बयान पढ़ा कि कांग्रेस नहीं बनाना चाहती। इसलिए मेरी धारणा बनी कि वहां कोई भी सरकार नहीं बनाना चाहता। राज्यपाल ने भी कहा कि कोई भी सरकार नहीं बानाना चाहता है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *