रोजाना पैदल चलिए, सात बीमारियों से हो सकता है बचाव

रोजाना पैदल चलने के भी कई सारे स्वास्थ्य फायदे होते हैं। तेजी से बदल रही दुनिया में आज लगभग हर किसी के पास मोटरसाइकिल मौजूद है, और ज्यादातर लोगों के पास कार भी है।
सभी लोग अपने टाइम की बचत के लिए इन संसाधनों से ऑफिस, स्कूल या फिर बाजार जाते हैं। हालांकि इससे समय की बचत तो होती है लेकिन लोगों की जिंदगी में पैदल चलने की स्थिति बिल्कुल भी नहीं बन पाती है। हाल ही में हुए में एक रिसर्च के अनुसार पैदल चलने से आप कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं से बचे रह सकते हैं।
रिसर्च के अनुसार अगर आप रोजाना पैदल चलते हैं तो इससे आपको कई सारी बीमारियों का खतरा कम हो जाएगा और आपकी क्वालिटी ऑफ लाइफ में भी काफी सुधार आएगा।
ब्रेन स्ट्रोक
अक्सर आपने सुना होगा या डॉक्टर के द्वारा सलाह ली होगी कि रोजाना मॉर्निंग वॉक पर जरूर जाएं। इससे आपको ताजी हवा तो मिलती है साथ ही साथ आपका मूड भी रिफ्रेश हो जाता है लेकिन क्या आपको पता है कि मॉर्निंग वॉक करने से ही आप ब्रेन स्ट्रोक जैसी जानलेवा स्थिति से भी आपको बचा सकता है? आपको सुनकर हैरानी होगी लेकिन अगर आप पूरे हफ्ते को मिलाकर कुल 2 घंटे तक पैदल चलते हैं तो इससे ब्रेन स्ट्रोक का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।
वजन घटाने के लिए
जिन लोगों को मोटापे की समस्या है उन्हें तो जरूर पैदल चलना चाहिए और डॉक्टरों के द्वारा भी वेट लॉस टिप्स में पैदल चलने की सलाह जरूर दी जाती है।
दरअसल, पैदल चलने से शरीर बहुत तेजी में पसीने को बाहर छोड़ता है जो मोटी चर्बी को पतला करने में काफी मददगार साबित होता है। इतना ही नहीं, अगर आप रोजाना 1 घंटे पैदल चलते हैं तो यह आपको मोटापे की समस्या से काफी दूर रखेगा और आप स्वस्थ बने रहेंगे।
डिप्रेशन
कभी-कभी ऑफिशियल वर्क, घर की नोकझोंक के कारण, दोस्तों यारों से कहासुनी या फिर किसी विशेष बात के कारण आप डिप्रेशन में चले जाते हैं और आपको इसका अंदाजा भी नहीं लगता है लेकिन अगर आप रोजाना पैदल चलते हैं तो आप इस समस्या से भी बचे रहेंगे। डिप्रेशन की समस्या से बचे रहने के लिए रिचार्ज के अनुसार आपको रोजाना 30 मिनट तक पैदल जरूर चलना चाहिए। दरअसल पैदल चलने से हमारे शरीर की सारी कोशिकाओं की एक्सर्साइज हो जाती है और यह दिमाग पर भी काफी एक्टिव प्रभाव डालता है। जिसके कारण अगर आप रोजाना पैदल चलते हैं तो यह दिमाग को सक्रिय रूप से काम करने के लिए एक्टिव तो करता ही है साथ ही साथ आपको डिप्रेशन से भी बचाए रखने में मदद करता है।
दिमाग तेज करने के लिए
दिमाग को तेज करने के लिए आप तरह-तरह के फूड्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन अगर आपको बिना किसी फूड्स के ही दिमाग तेज करना है तो आप पैदल चलने की आदत भी डाल सकते हैं इसलिए पूरे हफ्ते में कम से कम 40 मिनट की चहलकदमी जरूर करें। इससे आपके दिमाग पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा और आप के मस्तिष्क की कार्य क्षमता का विकास भी होगा। इसके अलावा हम आपको बता दें कि पैदल चलने का मतलब यह नहीं है कि आप रोजाना 4 या 5 किलोमीटर पैदल चलें बल्कि आप कम से कम 20 से 25 मिनट तक मॉर्निंग वॉक पर या फिर ईवनिंग वॉक पर जरूर निकलें।
हड्डियों को मजबूती मिलेगी
पैदल चलने के अन्य फायदों की बात करें तो इसका दूसरा सबसे ज्यादा असर हमारे शरीर के ढांचे पर ही असरकारी होता है और सीधे तौर पर वह हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है। रिसर्च में यह भी देखा गया कि पैदल चलने वाले लोगों में हिप फ्रैक्चर का खतरा करीब 43% तक कम हो जाता है। इसलिए आप भी अपनी दिनचर्या में से समय निकालें और कम से कम रोजाना 15 या 20 मिनट तक तो जरूर ही चलें।
डायबिटीज
भारत को डायबिटीज की राजधानी कहा जाता है क्योंकि भारत में आज करोड़ों की संख्या में लोगों को डायबिटीज है और वह इस बीमारी से जूझ रहे हैं। लेकिन अगर आप डायबिटीज जैसी बीमारी से बचे रहना चाहते हैं तो आपको रोजाना पैदल जरूर चलना चाहिए। दरअसल, पैदल चलने से शरीर के खून में मौजूद एक्स्ट्रा ब्लड शुगर काफी हद तक बर्न हो जाता है और आप इस बीमारी की चपेट में आने से बचे रहते हैं। इतना ही नहीं, अगर आपको डायबिटीज है तो पैदल चलने से आप इससे होने वाले जोखिम से भी बचे रहेंगे।
हृदय रोगों का खतरा कम करे
हृदय रोगों के कारण भारत में आज कई सारे लोगों को तरह-तरह की दवाओं का सेवन करना पड़ता है और उन्हें अपने खान-पान पर भी विशेष ध्यान देना पड़ता है। इतना ही नहीं है, ऐसे लोगों की क्वालिटी ऑफ लाइफ सुधारने के लिए डॉक्टरों के द्वारा रोजाना मॉर्निंग वॉक पर जाने के लिए भी कहा जाता है। हालांकि, अगर आप हृदय रोग के मरीज नहीं भी है तो इस बीमारी से बचे रहने के लिए आपको रोजाना 30 मिनट पैदल जरूर चलना चाहिए। दरअसल, पैदल चलने से हमारे शरीर के ब्लड सर्कुलेशन में भी बदलाव होते हैं जो हमारे हृदय को ठीक तरह से काम करने के लिए प्रेरित करता है और हृदय रोग से भी बचाए रहने में मदद कर सकता है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *