बुमराह की हैटट्रिक के असली ‘हीरो’ हैं विराट कोहली

जसप्रीत बुमराह भारत के लिए टेस्ट हैटट्रिक लेने वाले तीसरे गेंदबाज बन गए हैं। बुमराह ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ सबीना पार्क मैदान पर जारी दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन शनिवार को पारी के 9वें ओवर में तीन गेंदों पर तीन बल्लेबाजों को आउट कर यह कारनामा कर दिखाया। बुमराह ने वेस्ट इंडीज की पारी के 9वें ओवर की दूसरी गेंद पर डैरेन ब्रावो (4), तीसरी गेंद पर शाहमार ब्रूक्स (0) और चौथी गेंद पर रोस्टन चेज (0) को आउट कर हैटट्रिक पूरी कर अपना नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज करा लिया।
जमैका के सबीना पार्क में ली गई इस हैटट्रिक की जब भी बात होगी तो कप्तान विराट कोहली का जिक्र जरूर होगा। दरअसल, यह विराट की जिद ही थी, जिसकी वजह से ऐतिहासिक हैटट्रिक पूरी हो सकी। अब आप सोच रहे हैं कि विकेट बुमराह ने लिए तो इसमें विराट की जिद का क्या रोल? तो बता दें कि बुमराह ने दो विकेट तो ले लिए थे लेकिन तीसरा विकेट उन्हें डीआरएस से मिला। डीआरएस लेने का फैसला पूरी तरह विराट का था क्योंकि बुमराह ने इसके लिए नकार दिया था। उन्हें लग रहा था कि गेंद पैड से पहले बैट पर लगी है।
यूं मिले पहले दो विकेट
वेस्ट इंडीज की पारी का 9वां ओवर बुमराह ने किया और इसी ओवर में उन्होंने दूसरी, तीसरी और चौथी गेंद पर लगातार 3 विकेट झटकते हुए हैटट्रिक पूरी की। उनके ओवर की दूसरी गेंद पर डैरेन ब्रावो (4) केएल राहुल के हाथों लपके गए। शरीर से दूर जा रही गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर स्लीप में पहुंची और राहुल ने उसे लपकने में कोई गलती नहीं की। ओवर की तीसरी गेंद पर ब्रूक्स LBW हो गए। अब बुमराह हैटट्रिक पर थे।
बुमराह की हैटट्रिक की कहानी के ‘हीरो’ विराट
ओवर की चौथी गेंद रोस्टन चेज के पैड पर जाकर लगी लेकिन अंपायर ने कोई खास प्रतिक्रिया नहीं दी और बुमराह को भी विश्वास नहीं था कि गेंद बैट से पहले पैड पर लगी है। यहां कप्तान कोहली के मन में कुछ और ही चल रहा था। उन्होंने बुमराह की सोच से आगे जाकर DRS लेने का फैसला किया, जिसके बाद अंपायर को नॉट वाला फैसला बदलना पड़ा, क्योंकि गेंद बैट से पहले पैड पर लगी थी और वह लेग स्टंप पर लगते दिख रही थी। भारतीय टीम हैटट्रिक के जश्न में डूब चूकी थी।
हैटट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज
इस तरह जसप्रीत बुमराह टेस्ट में हैटट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज बने, जबकि वेस्ट इंडीज में हैटट्रिक लेने वाले पहले भारतीय बने। हैटट्रिक की बात करें तो बुमराह से पहले भारत के लिए हरभजन सिंह (रिकी पॉन्टिंग, एडम गिलक्रिस्ट और शेन वॉर्न) ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोलकाता में हैटट्रिक ली थी। वह टेस्ट में हैटट्रिक लेने वाले पहले भारतीय बने थे। उनके बाद यह कारनामा तेज गेंदबाज इरफान पठान (सलमान बट्ट, यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ) ने 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ किया था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *