विकास के मारे जाने पर ग्रामीणों ने लगाए पुलिस-प्रशासन जिंदाबाद के नारे

कानपुर। हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का एनकांउटर में मारे जाने के खबर जैसे ही ग्रमीणों को लगी बड़ी संख्या में लोग घटना स्थल पर लोग पहुंच गए। बारिश के बीच बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंच गए और पुलिस प्रशासन के जिंदाबाद के नारे लगाने लगे।
ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस ने इस कुख्यात अपराधी को मार कर शहर की जनता को राहत की सांस दी है। इसके आतंक से पूरा शहर खौफ में था। इस तरह के अपराधी किसी को भी अपना शिकार बना सकते है।
शुक्रवार सुबह भौती हाइवे पर एसटीएफ ने कुख्यात अपराधी को एनकांउटर में मार गिराया है। विकास दुबे गुरूवार सुबह मध्यप्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर से पकड़ा गया था। मध्य प्रदेश पुलिस ने विकास को यूपी एसटीएफ के हवाले किया था। एसटीएफ का काफिला विकास को लेकर कानपुर आ रहा था। इसी दौरान एक एसटीएफ की गाड़ी पलट गई।
पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश
मौके का फायदा उठाकर विकास ने पुलिसकर्मी की पिस्टल छीनकर भागने लगा। पुलिस ने जब उससे रुकने को कहा तो उसने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी फायरिंग में विकास मारा गया। इस एनकाउंटर में नवाबगंज इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी समेत तीन लोग घायल हो गए।
विकास को हैलट अस्पताल में मृत घोषित किया गया
घायलों को पहले कल्याणपुर सीएचसी भेजा गया। प्राथमिक उपचार के बाद पुलिसकर्मियों को हैलट अस्पताल के रेफर कर दिया गया। वहीं विकास को हैलट अस्पताल भेजा गया, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *