Vice president ने किया राजघाट पर बापू की पहली आदमकद प्रतिमा का अनावरण

नई दिल्ली। vice president एम वैंकेया नायडू ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि ‘राजघाट’ पर बापू की प्रतिमा का अनावरण किया। राजघाट पर महात्मा गांधी की यह पहली प्रतिमा है।

Vice president नायडू ने 148 वीं गांधी जयंती के अवसर पर कांसे से बनी 1.80 मीटर ऊंची प्रतिमा का अनावरण करने के बाद राजघाट पर कुछ प्रमुख पर्यटक सुविधाओं की भी शुरुआत की। इसमें अत्याधुनिक व्याख्यान केन्द्र और पर्यटकों की तमाम सुविधाओं से लैस प्रशासनिक भवन शामिल है। नवनिर्मित प्रशासनिक भवन में कर्मचारी कक्ष और आगंतुक कक्ष के अलावा प्रकाशन केन्द्र भी मौजूद है।

प्रतिदिन राजघाट आने वाले लगभग दस हजार सैलानियों के लिये बापू की प्रतिमा आकर्षण का केन्द्र बनेगी। देश विदेश से आने वाले सैलानी, राजनियक और राष्ट्राध्यक्ष काले ग्रेनाइट पत्थर से निर्मित समाधि पर बापू को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। मशहूर शिल्पकार राम सुतार द्वारा निर्मित गांधी जी की प्रतिमा को राजघाट के पार्किंग क्षेत्र में ग्रेनाइट की दो फुट ऊंची आधारशिला पर स्थापित किया गया है। आधारशिला पर हिंदी और अंग्रेजी में लिखा है ‘‘खुद में वह बदलाव लाओ,जो तुम देखना चाहते हो।’’ पर्यटक अब इस प्रतिमा पर भी गांधी जी को श्रद्धांजलि अर्पित कर सकेंगे।

पार्किंग परिसर में ही पर्यटकों के लिये निर्मित व्याख्यान केन्द्र में महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी प्रमुख घटनाओं और उनके कार्यों की जानकारी डिजिटल एलईडी स्क्रीन के माध्यम से ले सकेंगे। स्क्रीन पर गांधी जी पर आधारित लघुफिल्मों और रेखाचित्रों के जरिये उनके जीवन दर्शन से सैलानी रूबरू हो सकेंगे। साथ ही व्याख्यान केन्द्र में इयरफोन के माध्यम से गांधी जी के ऐतिहासिक भाषण सुनने और गांधी दर्शन पर आधारित प्रश्नोत्तर प्रतियोगिता में भी भाग लेने की सुविधा सैलानियों को मिलेगी। -एजेंसी