रिश्वत देने पर सैमसंग के वाइस चेयरमैन को ढाई साल जेल की सजा

सियोल। दक्षिण कोरिया की एक अदालत ने सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के वाइस चेयरमैन जे वाई ली को ढाई साल जेल की सजा सुनाई है। 52 साल के ली को 2017 में पूर्व राष्ट्रपति पार्क गियून-हाय के एक सहयोगी को रिश्वत देने का दोषी पाया गया था, जिसके बाद उन्हें 5 साल की सजा सुनाई गई। हालांकि उन्होंने आरोपों से इंकार किया था। अपील करने पर एक साल बाद उन्हें रिहा कर दिया गया लेकिन बाद में सुप्रीम कोर्ट ने मामले को वापस सोल हाई कोर्ट में भेजा दिया जिसने सोमवार को अपना फैसला दिया।
अदालत के फैसले का सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स पर असर नजर आएगा। अब ली कंपनी के अहम फैसले में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। साथ ही वह कंपनी में उत्तराधिकार की प्रक्रिया पर भी नजर नहीं रख पाएंगे। ली के पिता का अक्टूबर में निधन हुआ था। दक्षिण कोरिया के कानून के मुताबिक केवल तीन साल या उससे कम की सजा सस्पेंड की जा सकती है। इससे लंबी सजा के लिए जेल जाना पड़ता है। ली पहले एक साल जेल में रह चुके हैं।
इस फैसले के बाद सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के शेयर 4 फीसदी तक गिर गए। इसके अलावा सैमसंग सी एंड टी, सैमसंग लाइफ इंश्योरेंस और सैमसंग एसडीआई के शेयरों में भी गिरावट आई।
सियोल उच्च न्यायालय ने ली को रिश्वतखोरी, गबन के लिए लगभग 8.6 अरब डॉलर का दोषी पाया है और कहा कि पिछले साल की शुरुआत में सैमसंग में बनी स्वतंत्र अनुपालन समिति को पूरी तरह से प्रभावी बनने में समय लगेगा। जज जोंग-योंग ने कहा कि ली ने नए मजबूत अनुपालन के साथ प्रबंधन के लिए तत्परता दिखाई है, क्योंकि उन्होंने एक पारदर्शी कंपनी बनाने की कसम खाई थी। जन ने कहा कि कुछ कमियों के बावजूद मुझे उम्मीद है कि समय के साथ, यह कोरियाई कंपनियों के इतिहास में एक मील का पत्थर के रूप में इसका मूल्यांकन किया जाएगा, नैतिकता का पालन करने की दिशा में उठाया गया बड़ा कदम साबित होगा।
ली ने जो एक साल में जेल में बिताया है वह उनकी सजा में कम कर दिया जाएगा। इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी जा सकती है लेकिन कानूनी जानकारों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट इस पर एक बार फैसला दे चुका है, इसलिए अब ली के पास इसकी गुंजाइश कम ही है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *