नेपाल में शुरू हुआ टीकाकरण, पीएम ओली ने भारत का आभार जताया

काठमांडू। भारत की ओर 10 लाख कोरोना वैक्सीन डोज का तोहफा मिलने के बाद पड़ोसी मुल्क नेपाल में बुधवार को वैक्सीनेशन की शुरुआत हो गई। यहां पहले फेज में स्वास्थ्य कर्मियों सहित सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया जा रहा है। लगातार भारत विरोधी बयानों और गतिविधियों की वजह से चर्चा में रहने वाले नेपाली पीएम केपी शर्मा ओली के सुर भी बदले नजर आ रहे हैं। एक बार फिर उन्होंने इस तोहफे के लिए भारत और पीएम नरेंद्र मोदी का आभार जताया है। ओली जिस चीन के इशारे पर नाचते रहे वहां से उन्हें एक डोज भी नहीं भेजा गया है।
केपी शर्मा ओली ने बुधवार को कहा, ”हमें कोविडन-19 वैक्सीन देने का मौका जल्दी मिला। इसके लिए मैं पड़ोसी भारत सरकार, भारत के लोगों और विशेष रूप से पीएम मोदी को धन्यवाद और आभार प्रकट करता हूं। उन्होंने भारत में वैक्सीनेशन शुरू होने के एक सप्ताह के भीतर ही हमें वैक्सीन भेजा और वह भी उपहार में 10 लाख डोज।”
प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए टीकाकरण अभियान का उद्घाटन किया। करीब 3 करोड़ की आबादी वाले देश में अब तक 2 लाख 70 हजार से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 2 हजार से अधिक लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों के मुताबिक नेपाल में करीब 4 लाख 30 हजार फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, जिनमें स्वास्थ्यकर्मी, अस्पतालों में काम करने वाले अन्य कर्मचारी, सामुदायिक स्वास्थ्य कर्मी, सुरक्षाकर्मी, सफाई कर्मचारी, वृद्धाश्रमों में रह रहे बुजुर्ग शामिल हैं। देशभर के सभी 65 जिलों में टीकाकरण शुरू किया गया है।
पिछले सप्ताह ही भारत ने नेपाल को कोरोना टीके के 10 लाख डोज उपलब्ध कराए हैं। ये टीके ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की ओर से तैयार किए गए हैं। तेकु में स्थित सुकराज संक्रामक रोग अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. सागर राजभंडारी को पहला टीका लगाया गया। नेपाल सरकार एक महीने में 40 लाख डोज और खरीदने का विचार बना रही है। लगभग तय माना जा रहा है कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से ही टीकों की खरीद की जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *