उत्तर प्रदेश विधानसभा का Budget सत्र पांच फरवरी से

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा का Budget सत्र पांच फरवरी को राज्यपाल के अभिभाषण से शुरू होगा। सत्र का सबसे महत्वपूर्ण काम साल 2019-20 का Budget पास कराना है। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले लाए जाने वाले इस Budget के जरिए लोक लुभावन योजनाओं पर खास फोकस होगा। इसके अलावा सवर्ण आरक्षण से संबंधित विधेयक भी पास कराया जाएगा और सीएजी रिपोर्ट, कुंभ हादसे संबंधित रिपोर्ट भी सदन के पटल पर पेश होगी।
विधानसभा सचिवालय ने राज्यपाल द्वारा सत्र आहूत किए जाने के बाद इससे संबंधित अधिसूचना जारी कर दी। विधानसभा के करीब 15 फरवरी तक चलने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक 7 या 8 फरवरी को विधानसभा में बजट पेश किया जा सकता है। अगर सदन में बजट पर शांति पूर्ण चर्चा का माहौल बना तो सत्र एक या दो दिन और बढ़ाया जा सकता है। वैसे इस पर अंतिम निर्णय कार्यमंत्रणा समिति लेगी। चूंकि उस वक्त तक लोकसभा चुनाव की सरगर्मी तेज होगी और राजनीतिक दल अपनी अपनी चुनावी तैयारियों में व्यस्त होंगे। ऐसे में सत्र के ज्यादा लंबा सत्र चलाये रखने के आसार नहीं हैं।
दोनों सदनों के समक्ष होगा राज्यपाल का अभिभाषण
सत्र के पहले दिन राज्यपाल राम नाईक दोनों सदनों के समक्ष एक साथ अपना अभिभाषण रखेंगे। परंपरा के मुताबिक साल के पहले सत्र और नई विधानसभा गठित होने के बाद पहले सत्र का आगाज राज्यपाल के अभिभाषण से होता है। राज्यपाल को पांच फरवरी को नए प्रोटोकाल के तहत सदन में लाया जाएगा और अभिभाषण के बाद उसी तरह उनकी विदाई होगी। इस बार यह भी देखना होगा कि अभिभाषण के दौरान विपक्ष के सदस्य शांत होकर इसे सुनते हैं या इस पर विरोध दर्ज कराने के लिए पुराने रवैये को दोहराते हैं। वैसे इस पर विधानसभा अध्यक्ष सभी सदस्यों को मर्यादित व संयमित आचरण की नसीहत दे चुके हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *