अमेरिका की पाकिस्‍तान को चेतावनी, पत्रकार पर्ल के हत्‍यारे छोड़े नहीं जाएंगे

वॉशिंगटन। अमेरिका ने पत्रकार डेनियल पर्ल के हत्यारों के खिलाफ पाकिस्तान सरकार के लचर रवैये पर फिर से गुस्से का इजहार किया है। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने पर्ल के परिवार से बात कर उन्हें इंसाफ का भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा कि पर्ल के हत्यारों को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जाएगा। उधर पाकिस्तानी सरकार के लचर रवैये के कारण इस हत्याकांड का मुख्य दोषी अहमद उमर सईद शेख सरकारी गेस्ट हाउस में आराम फरमा रहा है।
अमेरिका ने दोषियों को अंजाम तक पहुंचाने का संकल्प जताया
अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने बताया कि ब्लिंकन ने डेनियल पर्ल के परिवार और उनके प्रतिनिधियों से आज बात की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि अमेरिकी सरकार न्याय दिलाने और डेनियल के अपहरण और हत्या में शामिल लोगों को जिम्मेदार ठहराने के लिए प्रतिबद्ध है। पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने पिछले हफ्ते ब्रिटिश मूल के अलकायदा के आतंकवादी अहमद उमर सईद शेख के दोष को साबित करने में अभियोजन पक्ष की नाकामी के लिए उसकी आलोचना की।
भारत ने उमर शेख को हाईजेकिंग के बाद किया था रिहा
भारत ने वर्ष 1999 में हाईजैक किये गये इंडियन एयरलाइंस के विमान में सवार 150 यात्रियों को छोड़ने के बदले शेख समेत जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर और मुश्ताक अहमद जरगर को रिहा किया था और अफगानिस्तान के रास्ते उन्हें जाने दिया था। इसके तीन साल बाद पर्ल की हत्या हुई थी।
2002 में हुई थी डेनियल पर्ल की हत्या
वर्ष 2002 में कराची में द वॉल स्ट्रीट जर्नल के दक्षिण एशिया ब्यूरो प्रमुख डेनियल पर्ल का उस समय अपहरण कर लिया गया था, जब वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और अलकायदा के बीच संबंधों पर एक खबर के लिए जानकारी जुटा रहे थे। इसके बाद सिर कलम करके उनकी हत्या कर दी गई थी।
सरकारी मेहमान बना हत्यारा
पाकिस्तानी अधिकारियों ने अलकायदा आतकी अहमद उमर सईद शेख को जेल से कराची केंद्रीय कारागार के परिसर में एक नवनिर्मित भवन में भेजने की अधिसूचना जारी की है। न्यायमूर्ति उमर अता बांदियाल की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने ब्रिटेन में जन्में शेख को मौत की सजा का सामने करने वाले कैदियों की कोठरी से सरकारी रेस्ट हाउस में भेजने का आदेश दिया था, जिसके बाद इस अधिसूचना को जारी किया गया।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *