उत्तर कोरिया के सेना दिवस से पहले अमेरिका की सबमरीन मिसाइल दक्षिण कोरिया पहुंची

US submarine missile reached South Korea before North Korea's military dayप्योंगयांग। उत्तर कोरिया के सेना दिवस से पहले अमेरिका की सबमरीन मिसाइल दक्षिण कोरिया पहुंच गई है। मंगलवार को अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया के प्रतिनिधियों ने मुलाकात भी की। अपनी सैन्य क्षमताओं के प्रदर्शन के लिए उत्तर कोरिया आमतौर पर कुछ विशिष्ट तारीखों या मौकों को चुनता है। इसी के मद्देनजर अमेरिका ने अपनी सबमरीन मिसाइल दक्षिण कोरिया पहुंचाई है।
उत्तर कोरिया के हाल के प्रदर्शन में अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों (आईसीबीएम) के जखीरे का खुलासा हुआ है। उसे देखते हुए दक्षिण कोरिया और सहयोगियों को आशंका है कि प्योंगयांग का अगला कदम और भी बड़ा हो सकता है।
दक्षिण कोरिया के अधिकारियों का कहना है कि संभवत: प्योंगयांग छठा परमाणु परीक्षण या आईसीबीएम का पहला परीक्षण मंगलवार (25 अप्रैल) को देश की सेना के स्थापना दिवस पर कर सकता है। इसके मद्देनजर अमेरिका समेत अन्य सहयोगी दल कमर कस चुके हैं।
इधर, उत्तर कोरिया के राजदूत आलेहांद्रो कादो बेनोस ने चेताया है कि उनका देश केवल तीन बम धमाकों से पूरी दुनिया को तबाह कर सकता है। आलेहांद्रो अन्य देशों से सांस्कृतिक संबंधों को लेकर उत्तर कोरिया का प्रतिनिधत्व करते हैं। जब उनसे उत्तर कोरिया द्वारा अन्य देशों को धमकी दिये जाने पर पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया को कोई छू नहीं सकता।
अगर ऐसा हुआ, तो लोग बंदूकों और मिसाइलों से इसकी रक्षा करेंगे। हमारे पास परमाणु बम है। उनमें से तीन ही दुनिया को खत्म करने के लिए काफी है।
उत्तर कोरिया पर संयम बरतें ट्रंप : शी
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ सोमवार को फोन पर हुई बातचीत के दौरान उत्तर कोरिया पर ‘संयम’ बरतने का अनुरोध किया। विदेश मंत्रालय के अनुसार, शी ने कहा कि चीन उम्मीद करता है कि संबंधित पक्ष संयम बरत सकते हैं। ऐसी किसी भी कार्यवाही से बच सकते हैं, जो कि कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ा सकते हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *