अमेरिकी वायुसेना ने चुन-चुनकर तालिबानी ठिकानों पर किया हमला

काबुल। तालिबान आतंकवादियों के खूनी खेल और देश के आधे से अधिक जिलों पर कब्‍जा करने के बाद अमेरिका एक्‍शन में आ गया है। अमेरिकी वायुसेना के लड़ाकू विमानों और ड्रोन ने तालिबान के ठिकानों पर रातभर चुन-चुनकर हमले किए हैं। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने इसकी पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि अमेरिकी सेनाओं के वापसी के बाद अमेरिका की ओर से किया गया यह पहला बड़ा हवाई हमला है। अमेरिका ने तालिबान को चेताया था कि अगर हिंसा बंद नहीं हुई तो वह हवाई हमले करेगा।
वाइस ऑफ अमेरिका की रिपोर्ट के मुताबिक इस हमले में उन सैन्‍य उपकरणों और हथियारों को निशाना बनाया गया जिस पर तालिबान ने कब्‍जा कर लिया था। तालिबान ने इसे अफगान सेना से छीन लिया था। बताया जा रहा है कि ये हमले कंधार में किए गए हैं, जहां पर तालिबान आतंकी लगातार हमले कर रहे हैं। कई लोग यह भी दावा कर रहे हैं कि इस हमले में अमेरिका ने अपने लंबी दूरी के बॉम्‍बर का भी इस्‍तेमाल किया है।
अफगानिस्तान के आधे हिस्से पर अब तालिबान का कब्जा
एपी की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका ने तालिबान छापेमारों से लड़ रहे अफगान सुरक्षा बलों की मदद करने के प्रयास के तौर पर पिछले कई दिनों में अफगानिस्तान में हवाई हमले किए हैं। अफगानिस्तान में अमेरिका के हवाई हमलों की खबरें तब आयी है जब एक दिन पहले अमेरिका के सबसे वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने माना कि तालिबान ने ‘रणनीतिक गति’ हासिल कर ली है और अफगानिस्तान के 400 से अधिक जिला केंद्रों के करीब आधे हिस्सों पर अब उसका कब्जा है।
बहरहाल, पेंटगान ने अफगानिस्तान में अपने हवाई हमलों की विस्तृत जानकारी नहीं दी। पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने पत्रकारों से कहा, ‘बारीकियों पर बात किए बिना मैं कह सकता हूं कि पिछले कई दिनों में हमने अफगान राष्ट्रीय रक्षा एवं सुरक्षा बलों (एएनडीएसएफ) की मदद के लिए हवाई हमले किए लेकिन मैं इन हमलों की सामरिक जानकारियों पर बात नहीं करूंगा।’
अमेरिकी सेना की वापसी 95 प्रतिशत से अधिक तक पूरी
सीएनएन की एक खबर के अनुसार एक रक्षा अधिकारी ने बताया कि अमेरिकी सेना ने पिछले 30 दिनों में तकरीबन छह या सात हवाई हमले किए, जिनमें ज्यादातर हमले ड्रोन से किए गए। वहीं, अमेरिकी केंद्रीय कमान ने हाल में कहा कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी 95 प्रतिशत से अधिक तक पूरी हो गयी है। राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा है कि सेना की वापसी अगस्त के अंत तक पूरी हो जाएगी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *