UPTET पेपर लीक: परीक्षा नियामक सचिव सह‍ित 34 गिरफ्तार

लखनऊ। #UPTET पेपर लीक प्रकरण में प्रश्नपत्र छापने वाली कंपनी आरएसएम फिनसर्व लि॰ के डायरेक्टर की व‍िगत द‍िवस गिरफ्तारी एवं आज सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकरण/ परीक्षा नियंत्रक (पीएनपी) संजय उपाध्याय को भी यूपी एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार किये जाने के संदर्भ में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने प्रेस वार्ता कर बताया।
कुमार के अनुसार इस मामले में तेजी से लगातार कार्रवाई की जा रही है। इस कड़ी में परीक्षा नियामक प्राधिकरण (PNP) के सचिव संजय उपाध्याय (Sanjay Upadhyay) और पेपर प्रिटिंग कम्पनी के डायरेक्टर अनूप प्रसाद (Anoop Prasad) को गिरफ्तार किया गया है। इन दो बड़े चेहरों को मिलकार 34 लोगों पर इस मामले को लेकर कार्रवाई की गई है।

पीएनपी ने ही इस परीक्षा का आयोजन किया था

UPTET पेपर लीक मामले में हुई संजय उपाध्याय की गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि एसटीएफ नोएडा ने पूछताछ के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया है।  इनको अब कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा।  उन्होंने बताया कि पूरे मामले में संजय उपाध्याय की अहम भूमिका रही है. फिनसर्व कंपनी को पेपर छापने का ठेका संजय उपाध्याय ने ही दिया था।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं ताकि पेपर लीक से जुड़े लोगों को जल्द से जल्द सजा मिल सके। इसके अलावा अब यूपीटीईटी पेपर की नई तारीखों की भी जल्द घोषणा होने वाली है। यूपी सरकार ने एक महीने के भीतर फिर से ​परीक्षा करवाने की बात कही है।  परीक्षा को फिर से सही तरीके से करवाने के लिए जोर शोर से तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। इसके अलावा इस बार परीक्षार्थियों से वापस परीक्षा शुल्क नहीं लिया जाएगा।

गौरतलब है कि 28 नवम्बर को दो पारियों में यूपी टीईटी परीक्षा होनी थी लेकिन पेपर लीक की खबर के बाद इस परीक्षा को रद्द कर दिया गया। परीक्षा में 21 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे। टीईटी प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 13.52 लाख और टीईटी उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 8.93 लाख परीक्षार्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *