पाकिस्तान में तुर्की की कंपनी पर पुलिसिया कार्यवाही के बाद बवाल, माफी की मांग

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में तुर्की की एक बड़ी कंपनी पर पुलिस की कार्यवाही के बाद बवाल बढ़ गया है। पाकिस्तान के करीबी दोस्तों में शुमार तुर्की की कंपनी ने इमरान सरकार से तुरंत माफी मांगने को कहा है।
दरअसल, पिछले मंगलवार को पुलिस ने लाहौर में स्थित अल्बायर्क एंड ओज्पैक ग्रुप कंपनी के ऑफिस पर छापेमारी की थी। कंपनी का आरोप है कि इस दौरान पुलिस ने उनके कुछ कर्मचारियों को जबरदस्ती हिरासत में लेकर मारपीट की।
कंपनी ने इमरान सरकार से माफी मांगने को कहा
छापेमारी के बाद अल्बायर्क एंड ओज्पैक ग्रुप के प्रोजेक्ट मैनेजर केग्री ओजेल ने पाकिस्तान सरकार को खत लिखकर माफी मांगने को कहा है। उन्होंने यह भी चेतावनी दी है कि अगर तुरंत माफी नहीं मांगी गई तो उनकी कंपनी भविष्य के किसी भी नीलामी में हिस्सा नहीं लेगी। तुर्की की यह कंपनी लाहौर में कचरा प्रबंधन की जिम्मेदारी संभाले हुए है।
तुर्की की कंपनी के कर्मचारियों से मारपीट का आरोप
कंपनी का आरोप है कि लाहौर की दंगा पुलिस ने अल सुबह उसकी छह गेराज पर छापा मारा। इस दौरान कंपनी के कर्मचारियों और अधिकारियों को कई घंटे खुली सड़क पर खड़ा रखा गया। कुछ कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई और तुर्की के कर्मचारियों को उनका कोई सामान नहीं लेने दिया गया।
बैठक का बदला तो नहीं ले रही लाहौर पुलिस?
बताया जा रहा है कि तुर्की की इस कंपनी का लाहौर वेस्ट मैनेजमेंट कंपनी (LWMC) के साथ विवाद चल रहा है। इस विवाद को सुलझाने के लिए हाल में ही एक बैठक भी की गई थी, जिसमें लाहौर वेस्ट मैनेजमेंट कंपनी के अध्यक्ष मलिक अली अमजद नून, ओज्पैक के सीईओ निज़ामेतिन कोकमेज, अल्बायर्क प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर कैगरी ओज़ेल और कंपनी के कई अधिकारी शामिल हुए थे। जिसके बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की है।
दोनों देशों के बीच बढ़ सकता है तनाव
माना जा रहा है कि इस विवाद के कारण तुर्की और पाकिस्तान के रिश्तों में भी तल्खी आ सकती है। इस कंपनी को तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैयप एर्दोगन का करीबी बताया जाता है। ऐसे में अगर पाकिस्तान में इस कंपनी के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है तो इससे तुर्की के राष्ट्रपति का भड़कना तय है। हालांकि, वर्तमान के राजनीतिक और सामरिक स्थिति को देखते हुए इसकी बेहद कम संभावना है कि तुर्की अपने दोस्त पाकिस्तान के खिलाफ कोई बयान दे या कार्यवाही करे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *