यूपी TET: सॉल्वर गैंग के सरगना समेत 22 पकड़े, कई कॉलेज के प्रबंधक भी शामिल

आजमगढ़। आजमगढ़ पुलिस ने शिक्षक पात्रता परीक्षा में गड़गड़ी करने वाले गैंग का खुलासा करते हुए 22 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इन्होंने 3-3 लाख रुपए में अभ्यर्थियों को पास कराने का कॉन्ट्रैक्ट लिया था। 1.5 लाख रुपए एडवांस लिए गए थे। बाकी पास होने के बाद लेने थे। इसमें 13 स्कूल प्रबंधक, 1 डीआईओएस ऑफिस का बाबू और 8 दलाल शामिल हैं। मथुरा में भी एक सॉल्वर गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ा है।

आजमगढ़ SP अनुराग आर्य ने बताया कि स्कूल संचालकों सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। इन स्कूलों को आगे परीक्षा के लिए ब्लैकलिस्टेड भी किया जाएगा।

पुलिस के मुताबिक इस पूरे गिरोह का सरगना रामपुर का अरविंद गुप्ता है। गुप्ता ही परीक्षा केंद्र बने स्कूल संचालकों से मिलीभगत करके अभ्यर्थियों का सीटिंग प्लान तय करता था। प्रबंधक एक दिन पहले उस कमरे में एक मोबाइल छिपा देते थे। जिस परीक्षक की कमरे में ड्यूटी होती थी, वे प्रश्न पत्र उसी मोबाइल से बाहर भेजते थे। फिर थोड़ी देर बाद उस प्रश्न पत्र के अनुरूप आंसर की चिट तैयार करके संबंधित परीक्षार्थी के पास पहुंचा दी जाती थी।
प्रति कैंडिडेट वसूले गए थे 3 लाख
जिले के SP अनुराग आर्य ने खुलासा करते हुए बताया कि इसके तहत प्रत्येक अभ्यर्थी से 3 लाख वसूले जाने थे। गिरोह के लोग सेंटर पर जाकर आंसर सीट डेवलप कर रहे थे। प्रत्येक अभ्यर्थियों से 1.50 लाख पहले लिया गया और अभ्यर्थियों की मार्कशीट इस गिरोह ने सिक्योरिटी के तौर पर कब्जे में ले लिया।

सेंटरों को कराया जाएगा ब्लैक-लिस्ट
जिले के SP अनुराग आर्य का कहना है कि आरोपियों के कब्जे से जो मोबाइल बरामद हुआ है। उनके मोबाइल से स्क्रीन शॉट व डाक्यूमेंट बरामद किया गया है। SP का कहना है कि CDR एनालिसिस के आधार पर यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है, इस मामले में और कौन लोग शामिल हैं।

SP का कहना है कि DM से कहकर इन सेंटरों को ब्लैक लिस्ट कराया जाएगा। इसके साथ ही इन्हें नकल माफिया के रूप में चिन्हित किया जाएगा। मामले में 45 लोगों से पूछताछ की गई। SP का कहना है कि रामपुर से डायरी व हिसाब-किताब बरामद हुआ। कई जिले तक यह रैकेट फैला हुआ है। SP का कहना है कि स्कूल चलाने वालों का काकश है।

इन प्रबंधकों की हुई गिरफ्तारी
जिले में शिक्षक पात्रता परीक्षा में गड़बड़ी करने वाले जिन प्रबंधकों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें प्रमुख रूप से सूर्य प्रकाश यादव प्रबंधक, धर्मेन्द्र यादव शिक्षक, हरेन्द्र यादव स्कूल का बाबू, वेद प्रकाश यादव प्रबंधक, सहर्ष राय प्रबंधक, देवेन्द्र यादव प्रबंधक, हरेन्द्र यादव प्रबंधक, अरविन्द कुमार यादव बाबू, कमलेश कुमार प्रबंधक, इन्द्रदेश यादव प्रबंधक सहित जिला विद्यालय निरीक्षक का बाबू धर्मेन्द्र कुमार राय को गिरफ्तार किया गया है।

यह हैं रामपुर के आरोपी
जिले के SP ने बताया कि रामपुर के नौ लोग इसमें शामिल हैं, जिनमें नीरज कुमार सक्सेना, रविन्द्र यादव, सारिक जावेद, जीतेन्द्र सिंह, जाफर खान, अरविन्द गुप्ता सहित तीन महिलाएं अर्शी पत्नी सारिक जावेद, साजिदा पत्नी जफर खान, नाजिया पत्नी मुकर्रम अली शामिल रहे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *