यूपी पुलिस के Corona Warriors का होगा 50 लाख रुपये का बीमा

लखनऊ। कल मध्यप्रदेश द्वारा पुल‍िसकर्मियों का 50 लाख रुपये का बीमा करने की घोषणा करने के बाद आज यूपी की योगी सरकार भी पुल‍िस के Corona Warriors के ल‍िए 50 लाख रुपये की बीमा योजना लाने जा रही है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि Corona Warriors पुलिसकर्मियों का 50 लाख रुपये का बीमा कराया जाए। जल्द ही इस संबंध में आदेश जारी किए जाएंगे। शासन की ओर से इस संबंध में जानकारी दी गई है।

जारी दिशा-निर्देश  में कहा गया कि प्रदेश के सभी जिलों में कोविड-19 की जांच के लिए कलेक्शन सेंटर स्थापित किए जाएंगे। जिन छह मंडलों में सरकारी मेडिकल कॉलेज नहीं है, उन सभी के मुख्यालयों पर टेस्टिंग लैब स्थापित की जाएंगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में लगे पुलिस कर्मियों का 50 लाख रुपये का बीमा कराया जाएगा।

पत्रकारों को इसकी जानकारी देते हुए अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि सीएम योगी ने कहा है कि कोरोना नियंत्रण के लिए ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मियों का 50 लाख रुपये का बीमा किया जाए। इस संबंध में लिखित आदेश भी तुरंंत जारी कर दिए जाएंगे।उन्होंने मीडियाकर्मियों से अपील भी की कि आप लोग हॉस्पिटल में कवरेज के लिए अनप्रोटेक्टेड होकर न जाएं। मास्क का सभी लोग इस्तेमाल करें और अगर कोई भी व्यक्ति मास्क का इस्तेमाल नहीं कर रहा है तो उसे रोकने की जिम्मेदारी आपकी भी है।

कोरोना वायरस से लड़ने में कारगर साबित हो रहा महामारी एक्ट
कोरोना महामारी फैलने पर आजादी के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश पुलिस ने एपेडमिक डिजीज एक्ट का इस्तेमाल किया है। पहला मुकदमा लखनऊ में सिंगर कनिका कपूर पर दर्ज किए जाने के बाद पूरे यूपी में अब तक हजारों मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। महामारी को काबू करने के लिए 100 साल से ज्यादा पुराना यह कानून आज भी कारगर साबित हो रहा है।

केन्द्र सरकार से मंत्रणा के बाद ही लॉकडाउन खोलने पर होगा फैसला
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में लाकडाउन खोलने पर फैसला केंद्र से राय-मशविरा लेने के बाद ही किया जाएगा। इसके लिए प्रदेश के हालात को भी मद्देनज़र रखना बहुत जरूरी है। तबलीगी जमात के लोगों के चलते संक्रमण प्रदेश में ज्यादा फैला है। अन्यथा हम काफी हद तक कोरोना से लड़ने में सफल होने की कोशिश में लगे थे।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *