UP-ATS ने किया नागपुर की ब्रह्मोस यूनिट से ISI एजेंट गिरफ्तार

नई दिल्ली। आज UP-ATS ने नागपुर की ब्रह्मोस यूनिट से एक ISI एजेंट गिरफ्तार किया है। UP-ATS द्वारा गिरफ्तार युवक का नाम निशांत अग्रवाल बताया गया है और यह नागपुर में डीआरडीओ की यूनिट में काम करता है।

देश के सुरक्षा प्रतिष्ठान में इसे एक बड़ी चूक के रूप में देखा जा रहा है। उत्तर प्रदेश के आतंक निरोधी दस्ते ने नागपुर स्थित ब्रह्मोस यूनिट ने एक कर्मचारी को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार युवक पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का एजेंट बताया गया है। इस गिरफ्तारी के बाद सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप मच गया है।

जानकारी के मुताबिक UP-ATS और महाराष्ट्र पुलिस की एक यूनिट ने मिलकर इस मामले का खुलासा किया है। गिरफ्तार युवक का नाम निशांत अग्रवाल बताया गया है और यह नागपुर में डीआरडीओ की यूनिट में काम करता है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार युवक ने पाकिस्तान को कई खुफिया जानकारी मुहैया कराई हैं।

जांच एजेंसी इस पूरे मामले की पड़ताल कर रही हैं और पता लगाया जा रहा है कि गुप्त सूचनाएं लीक करने के इस षड़यंत्र में निशांत के साथ कोई और कर्मचारी तो नहीं है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि गिरफ्तार युवक ने किन-किन जानकारियों को दुश्मन देश के हाथों में पहुंचाया है।

BrahMos की ताकत से घबराया पाकिस्तान
भारत और रूस के द्वारा विकसित की गई अब तक की सबसे आधुनिक प्रक्षेपास्त्र प्रणाली है और इसने भारत को मिसाइल तकनीक में अग्रणी देश बना दिया है। ब्रह्मोस एक कम दूरी की रैमजेट, सुपरसॉनिक क्रूज मिसाइल है। ब्रह्मोस की विशेषता यह है कि इसे जमीन से, हवा से, पनडुब्बी से, युद्धपोत से यानी कि लगभग कहीं से भी दागा जा सकता है। रूस की एनपीओ मशीनोस्ट्रोयेनिया (NPO Mashinostroeyenia) तथा भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ने संयुक्त रूप से इसका विकास किया है। यह रूस की पी-800 ओंकिस क्रूज मिसाइल की प्रौद्योगिकी पर आधारित है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *