यूपी विधानसभा चुनाव: पांचवें चरण में 12 जिलों की 61 सीटों पर मतदान कल

उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव अब पांचवें चरण में पहुंच चुका है। राज्य के 12 जिलों की 61 सीटों पर रविवार को मतदान होगा। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि पांचवें चरण के मतदान की तैयारी पूरी कर ली गई है और मतदान सुबह सात बजे से शाम 6 बजे तक होगा। उन्होंने बताया कि स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी तरीके से मतदान सम्पन्न कराने के लिए आवश्यक व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं।
पांचवें चरण में सुलतानपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, कौशांबी, प्रयागराज, बाराबंकी, अयोध्या, बहराइच, श्रावस्ती, गोंडा, अमेठी और रायबरेली जिले में मतदान होना है। शुक्रवार की शाम छह बजे इन 12 जिलों की 61 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार थम गया। जानकारी के अनुसार पांचवें चरण में 692 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनकी राजनीतिक तकदीर का फैसला करीब 2.24 करोड़ मतदाता करेंगे।
कौन-कौन से मुख्य चेहरे हैं मैदान में
प्रतापगढ़ के कुंडा से चुनाव जीत रहे रघुराज प्रताप सिंह इस बार अपनी जनसत्ता पार्टी के टिकट पर परंपरागत सीट पर चुनाव मैदान में हैं। प्रतापगढ़ जिले में ही अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल समाजवादी गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में भाजपा को टक्कर दे रही हैं। विधानसभा में कांग्रेस नेता आराधना मिश्रा ‘मोना’ भी रामपुर खास सीट से किस्मत आजमा रही हैं। अमेठी की पूर्व रियासत के मुखिया संजय सिंह अमेठी में इस बार भाजपा से उम्मीदवार हैं। राज्य के मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह प्रतापगढ़ जिले की पट्टी से, मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह प्रयागराज जिले की पश्चिम विधानसभा सीट से, मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी इसी जिले की दक्षिण सीट से, राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय चित्रकूट विधानसभा सीट से किस्मत आजमा रहे हैं। गोंडा सदर से ब्रजभूषण शरण सिंह के बेटे प्रतीक भूषण चुनावी मैदान में हैं। वहीं गोसाईंगंज में खब्बू तिवारी की पत्नी आरती तिवारी और अभय सिंह के बीच मुकाबला है।
61 में से 47 सीटों पर बीजेपी ने जमाया था कब्‍जा
पांचवें चरण का चुनाव सपा-बसपा के साथ-साथ बीजेपी के लिए भी काफी अहम हैं। बीजेपी पर जहां पुरानी जीत कायम रखने की चुनौती है। वहीं सपा-बसपा को उससे आगे निकलने की चाह है। बीजेपी ने 2017 में इस चरण की 61 में से 47 सीटें जीती थी और सपा ने 2012 चुनाव में 41 सीटों पर परचम लहराया था। 2017 में सपा के लिए यह चरण काफी खराब रहा। पिछले चुनाव में उसे इन जिलों में मात्र पांच सीटें मिली थीं। बसपा का तो और भी बुरा हाल था। वह मात्र तीन सीटों पर ही अपनी जीत दर्ज कर सकी थी। जानिए किस जिले में कितनी विधानसभा सीटों पर होना है मतदान…
सुलतानपुर
सुलतानपुर जिले की 5 विधानसभा सीटों सुलतानपुर विधानसभा, लम्भुआ, सदर, इसौली और कादीपुर (सुरक्षित) सीटों पर 27 फरवरी को चुनाव हैं।
चित्रकूट
चित्रकूट जिले में 2 विधानसभा सीटें शामिल हैं। इनमें चित्रकूट सदर और मानिकपुर विधानसभा सीट शामिल हैं।
प्रतापगढ़
प्रतापगढ़ जिले में 7 विधानसभा सीटें शामिल हैं। इनमें बाबागंज, रामपुर खास, कुंडा, विश्वनाथगंज, प्रतापगढ़ सदर, पट्टी, रानीगंज विधानसभा सीटें शामिल हैं।
कौशांबी
कौशांबी जिले में चार विधानसभा सीटें हैं। इनमें कौशांबी, सिराथू , मंझनपुर, चायल विधानसभा सीटें शामिल हैं।
प्रयागराज
प्रयागराज जिले में विधानसभा की 12 सीटें शामिल हैं। इनमें फाफामऊ सीट, सोरांव, फूलपुर, प्रतापपुर, हंडिया, मेजा, करछना, इलाहाबाद पश्चिम, इलाहाबाद उत्तर, इलाहाबाद दक्षिण, बारा और कोरांव।
बाराबंकी
बाराबंकी जिले में 6 विधानसभा सीटें शामिल हैं। इनमें कुर्सी, रामनगर, जैदपुर, हैदरगढ़, दरियाबाद विधानसभा सीटें शामिल हैं।
ग्राउंड रिपोर्ट: राम मंदिर निर्माण का अवध बेल्ट में कितना है चुनावी असर? आस्था-रोजाना के मसलों में से किसका पलड़ा भारी!
अयोध्या
अयोध्या जिले में 5 विधानसभा सीटें शामिल हैं। इनमें दरियाबाद, रुदौली, मिल्कीपुर, बीकापुर, अयोध्या विधानसभा सीटें शामिल हैं।
बहराइच
बहराइच जिले में 7 विधानसभा सीटें हैं। नानपारा, मटेरा, महसी, बहराइच, पयागपुर, कैसरगंज, बलहा विधानसभा सीटें शामिल हैं।
श्रावस्ती
श्रावस्ती जिले में दो ही विधानसभा सीटें हैं। इनमें भिनगा और श्रावस्ती सदर सीटें शामिल हैं।
गोंडा
गोंडा जिले की 7 विधानसभा सीटों पर पांचवें चरण में मतदान होना है। मेहनौन, गोंडा, कटरा बाजार, कर्नलगंज, तरबजगंज, मनकापुर, गौरा।
अमेठी
अमेठी जिले में चार विधानसभा सीटें आती हैं। पहली सीट गौरीगंज, जगदीशपुर, तिलोई और अमेठी सदर है।
रायबरेली
रायबरेली जिले की 6 में से 5 विधानसभा सीटों पर मतदान चौथे चरण में हो चुका है। एकमात्र सलोन सीट पर पांचवें चरण में वोटिंग है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *