संयुक्त राष्ट्र ने UAE से प्रिंसेज़ लतीफ़ा के जीवित होने का ठोस सबूत मांगा

न्‍यूयॉर्क। संयुक्त राष्ट्र ने संयुक्त अरब अमीरात UAE से प्रिंसेज़ लतीफ़ा के जीवित होने का ठोस सबूत मांगा है. प्रिंसेज़ लतीफ़ा के बारे में कहा जाता है कि उन्हें बंधक बनाकर रखा गया है.
प्रिंसेज़ लतीफ़ा के पिता शेख़ मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम दुनिया के सबसे अमीर राष्ट्राध्यक्षों में से एक हैं. वो दुबई के शासक और यूएई के उप-राष्ट्रपति भी हैं.
जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार विशेषज्ञों ने मंगलवार को एक बयान जारी करके ये भी कहा है कि प्रिंसेज़ लतीफ़ा को ‘फ़ौरन’ रिहा किया जाना चाहिए.
प्रिंसेज़ लतीफ़ा ने साल 2018 में दुबई से भागने की कोशिश की थी, लेकिन वो नाकाम रही थीं.
दुबई के शाही परिवार ने इससे पहले कहा था कि प्रिंसेज़ लतीफ़ा सुरक्षित हैं और घर पर ही उनकी देखभाल की जा रही है.
लेकिन संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि उन्हें प्रिंसेज़ लतीफ़ा के बारे में और जानकारी चाहिए.
मंगलवार को जारी बयान में संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों ने यूएई की सरकार से दोबारा कहा है कि वो प्रिंसेज़ लतीफ़ा के बारे में ‘बिना देरी किए सार्थक सूचना’ दे.
बयान में कहा गया है कि शाही परिवार का ये कहना काफ़ी नहीं है कि ‘प्रिंसेज़ लतीफ़ा की घर पर देखभाल की जा रही है.’
बयान में कहा गया है कि दुबई के शाही परिवार ने प्रिंसेज़ लतीफ़ा के बारे में अभी तक ‘कोई ठोस सूचना नहीं दी’ है.
इससे पहले, बीबीसी पैनोरमा को मिले एक वीडियो संदेश में प्रिंसेज़ लतीफ़ा ने बताया था कि उन्हें एक जेलनुमा महल में बंधक बनाकर रखा गया है, जहाँ कोई मेडिकल मदद तक नहीं मिलती.
प्रिंसेज़ लतीफ़ा ने फ़रवरी 2018 में अपनी दोस्त की सहायता से दुबई से भागने की कोशिश की थी.
भागने से पहले रिकॉर्ड किए गए वीडियो में उन्होंने कहा था, “मुझे गाड़ी चलाने की अनुमति नहीं है, मुझे यात्रा करने या दुबई छोड़ने की भी अनुमति नहीं है.”
हालांकि, कुछ दिनों के बाद प्रिंसेज़ को एक नाव में सैन्यकर्मियों ने हिंद महासागर से पकड़ लिया था. उन्हें वापस दुबई लाया गया था और फिर उसके बाद से वो वहीं थीं.
उनके पिता ने कहा था कि वो उनके हित के लिए यह कर रहे हैं.
प्रिंसेज़ लतीफ़ा के पिता कौन हैं?
शेख़ मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम, प्रिंसेज़ लतीफ़ा के पिता हैं. वे दुबई के शासक हैं जिन्होंने एक बहुत ही कामयाब शहर का निर्माण किया है.
लेकिन मानवाधिकार कार्यकर्ता मानते हैं कि वहाँ पर असहमति की कोई जगह नहीं है और न्यायिक प्रणाली महिलाओं के ख़िलाफ़ भेदभावपूर्ण है.
शेख़ मोहम्मद का घुड़दौड़ का विशाल कारोबार है और वे रॉयल एस्कॉट समेत बड़े समारोहों में शामिल होते रहे हैं जहां पर महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के साथ भी उनकी तस्वीर है.
लेकिन प्रिंसेज़ लतीफ़ा और उनकी सौतेली मां को लेकर शेख़ मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की आलोचना होती रही है.
उनकी पत्नी प्रिंसेज़ हया बिंत अल हुसैन साल 2019 में अपने दो बच्चों के साथ लंदन भाग गई थीं.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *