ब्रिटेन: दुष्प्रचार में जुटे खालसा टीवी चैनल ने अपना लाइसेंस किया सरेंडर

खालिस्तान के समर्थन में दुष्प्रचार में जुटे ब्रिटेन के खालसा टीवी चैनल ने अपना लाइसेंस सरेंडर कर दिया है। ब्रिटेन के मीडिया नियामक ने खालसा टेलीविजन लि. के चैनल को प्रसारण नियमों के उल्लंघन का दोषी माना था।
चैनल को पिछले माह ब्रिटेन के प्रसारण नियामक ने नोटिस दिया था। ब्रिटेन के ऑफिस ऑफ कम्युनिकेशंस (ऑफकॉम) ने बताया कि 26 मई को लाइसेंस निरस्त करने का नोटिस मिलने के बाद खालसा टेलीविजन लिमिटेड ने अपना लाइसेंस सरेंडर कर दिया है।
प्राइम टाइम कार्यक्रम में हिंसा भड़काने वाली सामग्री थी
पिछले साल 30 दिसंबर को केटीवी पर प्रसारित एक प्राइम टाइम कार्यक्रम पर कंपनी को लाइसेंस निलंबित करने का नोटिस दिया गया था। इसमें ब्रॉडकास्टिंग कानूनों के उल्लंघन का आरोप लगाया गया था। ब्रिटिश मीडिया ने कहा नोटिस में कहा था कि 95 मिनट के लाइव प्रसारण में हिंसा भड़काने वाली सामग्री शामिल थी।
लाइसेंस निलंबित कर दिया था
ऑफकॉम ने एक बयान में कहा, 13 मई 2022 को ऑफकॉम ने खालसा टेलीविजन लिमिटेड के प्रसारण लाइसेंस को रद्द करने के लिए एक मसौदा नोटिस जारी किया था। चार साल के भीतर यह तीसरा मौका था जब इस चैनल को हिंसा भड़काने वाले कार्यक्रमों के कारण अपराध को बढ़ावा देने वाला बताया गया था। केटीवी 31 मार्च से बंद हो गया था। ऑफकॉम ने अपने प्रसारण नियमों के गंभीर उल्लंघन के बाद खालसा टेलीविजन लिमिटेड का लाइसेंस निलंबित कर दिया था। जांच में पाया गया कि ‘प्राइम टाइम’ शो के प्रस्तुतकर्ता ने कई बयान दिए।
पिछले साल जुर्माना लगाया था
ऑफकॉम ने पहले भी इस चैनल के खिलाफ कार्रवाई की थी। पिछले साल फरवरी में एक संगीत वीडियो और एक चर्चा कार्यक्रम प्रसारित करने के लिए चैनल पर 50,000 पाउंड का जुर्माना लगाया गया था। यह ब्रिटिश सिखों को अप्रत्यक्ष रूप से उकसाने वाला माना गया था। अपनी वेबसाइट पर केटीवी खुद को एक रोमांचक चैनल बताता है। उसका दावा है कि वह सभी उम्र के दर्शकों के लिए सांस्कृतिक, शैक्षिक और मनोरंजक कार्यक्रमों की निष्पक्ष व स्वतंत्र श्रृंखला प्रसारित करता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *