राम मंदिर निर्माण के लिए उद्धव ठाकरे ने दिए एक करोड़ रुपए

अयोध्‍या। महाराष्ट्र की कमान संभालने के 100 दिन बाद जब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अयोध्या पहुंचे तो एक बार फिर उन्होंने हिंदुत्व को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा।
राम मंदिर के लिए एक करोड़ रुपये दान कर उद्धव ने साफ कर दिया कि शिवसेना की विचारधारा को लेकर वह अपनी राह पर कायम हैं। साथ ही उद्धव ने साफ कहा कि रामलला का मंदिर बनाना हम सब की जिम्मेदारी है। मंदिर ऐसा भव्य बनना चाहिए कि दुनिया देखे।
खुद के ट्रस्ट से एक करोड़ रुपये देने का ऐलान
महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार के 100 दिन पूरे होने के अवसर पर मुंबई से परिवार के साथ अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘मैं यहां पर रामलला का आशीर्वाद लेने आया हूं। आज यहां मेरे साथ ‘भगवा परिवार’ के कई सदस्य हैं। पिछले डेढ़ साल के दौरान अयोध्या का यह मेरा तीसरा दौरा है। मैं आज यहां दर्शन-पूजन भी करूंगा। मैं राम मंदिर के लिए एक करोड़ रुपये दान करने की घोषणा करता हूं। यह दान राज्य सरकार की तरफ से नहीं, बल्कि मेरे ट्रस्ट से दिया जाएगा।’
‘मैं बीजेपी से अलग हुआ हूं, हिंदुत्व से नहीं’
उद्धव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मैं बीजेपी से अलग हुआ हूं, हिंदुत्व से नहीं। बीजेपी का मतलब हिंदुत्व नहीं है। हिंदुत्व अलग है और बीजेपी अलग है।’
उद्धव ठाकरे ने 28 नवंबर को महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन कर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। सीएम बनने के बाद वह पहली बार अयोध्या पहुंचे हैं।
कोरोना वायरस की वजह से कैंसल हुआ सरयू आरती का प्लान
विशेष विमान से परिवार के साथ लखनऊ एयरपोर्ट आए ठाकरे सड़क मार्ग से अयोध्या पहुंचे। रामलला के दर्शन के बाद ठाकरे सपरिवार वापस रवाना हो जाएंगे। अयोध्या में उद्धव का सरयू आरती में शामिल होने और जनसभा का करने भी कार्यक्रम था लेकिन कोरोना वायरस को लेकर गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा एडवायजरी के बाद इस कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है।
महाराष्ट्र के श्रद्धालुओं के लिए भवन हेतु जमीन की अपील
उद्धव ने कहा, ‘मैं बार-बार अयोध्या आऊंगा। इसके साथ ही मैं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील करता हूं कि यहां पर जमीन मुहैया करा दें, जिससे महाराष्ट्र से आने वाले श्रद्धालुओं के ठहरने का इंतजाम हो जाए। यहां पर महाराष्ट्र भवन का निर्माण किया जाएगा।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *