लखनऊ: वकील नितिन तिवारी की हत्‍या के आरोपी दो सगे भाई गिरफ्तार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सोमवार देर रात दो जिलों की संयुक्त पुलिस टीम ने एक वकील को अगवा कर उसकी हत्या करने वाले दो युवकों को गिरफ्तार किया। पुलिस टीम ने बताया कि दोनों आरोपी रिश्ते में सगे भाई हैं।
दोनों भाइयों ने वकील की ओर से की जा रही आपत्तिजनक टिप्पणियों से परेशान होकर वकील को पहले अगवा करने और फिर उसकी हत्या करने की बात बताई है। गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि मृत्तक द्वारा खाटू श्याम की पूजा न करने, महिलाओं को उल्टी सीधी बात कहने और हम लोगों को नपुंसक कहता था।
उन्नाव जिले में मिला शव
पूरा मामला लखनऊ के कैसरबाग थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले लालकुआं मकबूलगंज इलाके का है। पुलिस ने बताया कि क्षेत्र के रहने वाले 35 वर्षीय अधिवक्ता नितिन तिवारी के भाई मयंक ने शनिवार शाम अपने अधिवक्ता भाई के अपहरण होने का संदेह जताते हुए स्थानीय कैसरबाग थाने में मामला दर्ज कराया था। जिसके बाद रविवार को उन्नाव जनपद के मौरावां क्षेत्र के पिसंदा गांव में सड़क किनारे बनी झाड़ियों में वकील का शव पड़ा मिला। उन्नाव पुलिस की सूचना पर मयंक के परिवारीजनों ने शव की शिनाख्त की, जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।
भाइयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
एडीसीपी पश्चिम राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि रविवार को वकील का शव मिलने के बाद उन्नाव पुलिस की ओर से शव का पोस्टमार्टम कराया गया। रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि वकील का गला घोंटने के साथ सिर पर भारी वस्तु से प्रहार करने से उसकी मृत्यु हुई। शव की शिनाख्त होते ही लखनऊ पुलिस की ओर से छानबीन की गई तो पता चला कि शनिवार को वकील नितिन तिवारी के पड़ोस में रहने वाले प्रवीण अग्रवाल और विपिन अग्रवाल वकील को अपने साथ कार में कहीं ले गए थे। जिसके बाद में वकील नितिन तिवारी वापस घर नहीं लौटे। दोनों युवक रिश्ते में सगे भाई हैं। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश की गई। सोमवार देर रात दोनों आरोपी भाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया।
‘वकील रोजाना करता था आपत्तिजनक टिप्पणी इसलिए कर दी हत्या’
वकील की हत्या करने वाले दो सगे भाइयों को गिरफ्तार के बाद आरोपियों ने हत्या करने की वजह का खुलासा करते हुए कहा कि दोनों वकील नितिन तिवारी के पड़ोस में ही मकबूलगंज के रहने वाले हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि अधिवक्ता नितिन अक्सर उन पर आपत्तिजनक टिप्पणी करता था, जिसे लेकर दोनों भाई बहुत परेशान रहते थे। इसी के चलते दोनों भाइयों से पीजीआई थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली सैनिक कॉलोनी में एक मकान ले लिया।
आरोपियों ने बताया कि सैनिक कॉलोनी में रहने के बावजूद अधिवक्ता नितिन ने उन पर टिप्पणी करना बंद नहीं किया, वह अक्सर फोन करके ऐसी टिप्पणियां करता था। रोजाना हो रही ऐसी टिप्पणियों से परेशान होकर दोनों भाइयों ने अधिवक्ता नितिन की हत्या करने की योजना बनाई, जिसके बाद शनिवार को उन्होंने बहाने से अधिवक्ता नितिन को उसने घर से बुलाया और अपनी कार से उन्नाव ले गए। कार के अंदर ही दोनों भाइयों ने मिलकर वकील की हत्या कर दी, फिर उन्नाव जिले के मौरावां क्षेत्र में सड़क किनारे शव को फेंक कर फरार हो गए। सोमवार देर रात तलाश के बाद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *