अमरनाथ विद्या आश्रम में भक्तिभाव से मनाई गई Tulsi Jayanti

मथुरा।  जनपद की प्रमुख शिक्षण संस्था अमरनाथ विद्या आश्रम में  Tulsi Jayanti धूमधाम के साथ मनाई गई । महाकवि तुलसीदास जी की जयन्ती के अवसर पर विद्यार्थियों ने तुलसीदास जी द्वारा रचित पद, दोहे, चैपाइयां, गीत, भजन तथा सामूहिक रूप से संगीतमय हनुमान चालीसा भी प्रस्तुत की ।

विद्यालय के प्रधानाचार्य डा. अरूण कुमार वाजपेयी ने अपने संदेश में सभी विद्यार्थियों को महाकवि तुलसीदास जयन्ती की शुभकामनायें दीं । उनका मानना था कि तुलसीदास जी का जीवनकाल ही भारत वर्ष का स्वर्णिम भक्तिकाल है, तुलसीदास जी के द्वारा रचित श्रीरामचरित मानस आज भी सभी के लिये प्रेरणा का स्त्रोत बना हुआ है । उन्होंने कार्यक्रम में भाग लेने वाले सभी विद्यार्थियों को साधुबाद दिया ।

विद्यालय के उप प्रधानाचार्य डा. अनुराग वाजपेयी ने कहा कि हमें तुलसीदास जी जैसे महापुरूषों से प्रेरणा लेनी चाहिए । उन्होंने बताया कि तुलसीदास, सूरदास, कबीरदास हिन्दी के महान सपूत हैं, जिनके महत्वपूर्ण योगदान के कारण ही आज भी हिन्दी की बगिया महक रही है । कविवर तुलसीदास जी ने ही रामायण को राम चरित मानस के रूप में घर-घर तक पहुंचाया । रामचरित मानस ही समाज को सही दिशा प्रदान कर रही है । उन्होंने सभी बच्चों को संत तुलसीदास जयन्ती की बधाई देते हुये बच्चों की प्रस्तुतिकरण की प्रशंसा की ।

उन्होंने बताया कि संत तुलसीदास जयन्ती कार्यक्रम में भजन, दोहे, पद, चैपाई के द्वारा प्रारम्भ हुआ । इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में छात्रा वैष्णवी गौड़ ने तुलसी दास जी द्वारा रचित विनय पत्रिका तथा हनुमान चालीसा की विशेषताओं के सम्बन्ध में बताया । छात्रा विधि गुप्ता ने तुलसीदास जी से सम्बन्धित अनेकों संस्मरण सुनाये तो वहीं छात्र चितवन वाजपेयी ने तुलसीदास जी के साहित्यिक गुणों का बखान किया । रिद्धी, सिद्धी चतुर्वेदी, आरूषी अग्रवाल, पलक, अंश गौड़, रौनक, श्रद्धा, कोयना, नेहल, प्रगति, प्रशिता, भारती, कान्हा, नितिन कौशिक, विख्यात सहित अनेकों विद्यार्थियों ने भजन ‘श्रीराम चन्द्र कृपालु भजमन…’, रामधुन सहित रामचरित मानस की चैपाइयों को मधुर स्वर में प्रस्तुत किया । संगीत विभाग द्वारा श्रीराम स्तुति प्रस्तुत की गयी ।

विद्यार्थियों ने अपनी प्रस्तुति से राम नाम की महिमा व तुलसीदास जी की भक्ति का वर्णन कर सभी के मन को मोह लिया तथा वातावरण को राममय बना दिया। कार्यक्रम के सफल आयोजन में हिन्दी विभाग के सभी शिक्षकों का योगदान सराहनीय रहा । कार्यक्रम का समापन सामूहिक रूप से संगीतमय हनुमान चालीसा के पाठ से हुआ ।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *