कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद ट्रंप ने की पहली चुनावी रैली

फ्लोरिडा। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद से पहली बार चुनाव रैली की है. एक दिन पहले उनके डॉक्टर ने कहा था कि उनके कई टेस्ट नेगेटिव आए हैं.
फ़्लोरिडा में उन्होंने घंटे भर लंबे भाषण में उत्साहित समर्थकों से कहा कि वो ‘ताक़तवर’ महसूस कर रहे हैं और रैली में आए ‘हर व्यक्ति को चूम’ सकते हैं क्योंकि अब वो इस बीमारी से इम्यून हो चुके हैं.
उन्होंने अपने भाषण में वैसी ही बातें कीं जो वो करते रहे हैं. जैसे उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन को वामपंथी खेमे का पुतला बताया और मीडिया को पक्षपाती क़रार दिया.
प्रदेश के सैन्फ़र्ड शहर में हुई रैली में सोशल डिस्टेंसिंग का कोई पालन नहीं हुआ और कई लोगों ने तो मास्क तक नहीं लगाया हुआ था.
ट्रंप के प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन मतदान पूर्व सर्वेक्षण में 10 अंकों से आगे चल रहे हैं. हालाँकि, कुछ अहम प्रदेशों में ये अंतर बहुत ज़्यादा नहीं है.
डोनाल्ड ट्रंप 11 दिन पहले कोरोना संक्रमित पाए गए थे जिसके बाद उन्हें वॉल्टर रीड मेडिकल सेंटर में भर्ती कराया गया था लेकिन पिछले रविवार को उनके निजी डॉक्टर ने कहा कि अब उनसे किसी को कोरोना संक्रमण होने का ख़तरा नहीं है.
एक दिन बाद सोमवार को उन्होंने कहा कि ट्रंप के हाल के सारे टेस्ट नेगेटिव आए हैं, हालाँकि उन्होंने ये नहीं बताया कि ये टेस्ट किन दिनों में किए गए.
फ़्लोरिडा में अपने भाषण में कोरोना संक्रमण से उबरने की बात करते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा,”वो कह रहे हैं कि मैं अब इम्यून हूँ – मुझे महसूस हो रहा है कि मैं ताक़तवर हूँ. मैं आपके बीच आकर हर किसी को चूम सकता हूँ. मैं मर्दों को भी चूमूँगा और ख़ूबसूरत औरतों को भी, मैं आपको एक बड़ा, मोटा चुंबन दूँगा.”
डोनाल्ड ट्रंप ने दो अक्टूबर को अपने और अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप के कोरोना पॉज़िटिव होने की जानकारी दी थी.
उन्होंने ख़ुद एक ट्वीट कर बताया था कि वो और उनकी पत्नी क्वारंटीन में रहेंगे.
ट्रंप ने महामारी शुरू होने के बावजूद इस वायरस को बहुत गंभीरता से नहीं लिया था.
शुरुआती दौर में वो मास्क भी नहीं लगाते थे. साथ ही वो लॉकडाउन लगाने के पक्ष में भी नहीं थे मगर फ़्लोरिडा की रैली को देख लगता नहीं कि ट्रंप की सोच में उनकी बीमारी से कोई बदलाव आया है. इसके बाद वो अगले कुछ दिनों में पेन्सिल्वेनिया, आयोवा और नॉर्थ कैरोलाइना में भी रैलियाँ करने वाले हैं और वहाँ भी ऐसा नहीं लगता कि सोशल डिस्टैंसिंग का ध्यान रखा जाएगा.
ट्रंप के प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन ने राष्ट्रपति के बर्ताव की निंदा की है. उन्होंने कहा, “राष्ट्रपति ट्रंप आज सैन्फ़र्ड आए और कुछ नहीं बल्कि फिर से ग़ैर-ज़िम्मेदाराना, लोगों को बाँटने वाली और लोगों को डराने वाली बातें कीं “.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *