Bapu को दी देश ने श्रद्धांजलि: राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित कई नेताओं ने किया राष्ट्रपिता को नमन

नई दिल्‍ली। देश राष्ट्रपिता महात्मा गांधी Bapu को उनकी पुण्यतिथि के मौके पर याद कर रहा है, Bapu के आदर्शों पर चलने का संकल्प दोहराया जा रहा है।

30 जनवरी 1948, यह वही दिन था जब शाम पांच बजकर पंद्रह मिनट पर महात्मा गांधी बिरला हाउस के प्रार्थना स्थल की तरफ़ बढ़ रहे थे, तभी ठीक दो मिनट बाद नाथूराम गोडसे ने अपनी बेरेटा पिस्टल की तीन गोलियां महात्मा गांधी के शरीर में उतार दी। उन तीन गोलियों ने महात्मा गांधी के शरीर को तो खत्म कर दिया लेकिन न तो गोलियां अंहिसा के विचार को मार पाई और न सत्य के उस राह को खत्म कर पाई जिसे बापू सबको दिखा गए थे।

इसका मतलब बापू के बाद भी उनके विचार जिंदा रहे, लेकिन उनकी मृत्यु के बाद से ही उनके खिलाफ कई तरह के एकपक्षीय विवरण प्रस्तुत कर उन्हें भारत विभाजन के लिए जिम्मेवार साबित करने की कोशिश हुई। साथ ही उन्हें हिन्दुओं से ज्यादा मुसलमानों के पक्ष में होने की भ्रांति भी सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से फैलाई गई।

महात्मा गांधी ‘धर्म’ और खासकर हिन्दू धर्म के बारे में सोचते थे कि उनके विचार वाकयी हिन्दुओं के खिलाफ थे जिसकी वजह से इसी धर्म से ताल्लुक रखने वाले एक शख्स ने उन्हें गोली मार दी।

महात्मा गांधी का विश्वास था कि, ”सब धर्मों का लक्ष्य एक ही है.”। एक बार उनसे हिन्दू धर्म की परिभाषा पूछी गई। बापू ने कहा,”मैं एक सनातनी हिन्दू हूं लेकिन मैं हिन्दू धर्म की व्याख्या नहीं कर सकता। हां एक समान्य मनुष्य की तरह मैं कह सकता हूं कि हिन्दू धर्म सभी धर्मों को, सब तरह से आदर पात्र समझता है।”

Tribute to Bapu: Prime Minister, donate the Father of the Nation
Tribute to Bapu: Prime Minister, donate the Father of the Nation

इस मौके पर राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित सभी दलों के नेताओं ने उनकी समाधि राजघाट जाकर श्रद्धांजलि दी।

बापू की पुण्यतिथि पर राष्ट्रपति कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने राजघाट जाकर श्रद्धांजलि दी।

साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण और आर्मी स्टाफ ने बापू को श्रद्धांजलि दी। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद किया।

-Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *