KD हॉस्पिटल में भूतपूर्व सैनिकों व उनके परिजनों का उपचार प्रारम्भ

मथुरा। ब्रज मण्डल में विश्वसनीय चिकित्सा सुविधाओं में विशिष्ट स्थान रखने वाले KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर में अब भूतपूर्व सैनिकों और उनके परिजनों का उपचार भी प्रारम्भ कर दिया गया है।

हॉस्पिटल प्रबंधन व डायरेक्टर रीजनल सेण्टर (ECHS) बरेली के बीच हुआ अनुबंध

के.डी. हॉस्पिटल में भूतपूर्व सैनिकों और उनके परिजनों के उपचार की अनुमति डायरेक्टर रीजनल सेण्टर (ईसीएचएस) बरेली ने प्रदान की है। आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल ब्रजवासियों के स्वस्थ और सुखद जीवन के लिए निरंतर प्रयासरत हैं। डा. अग्रवाल चाहते हैं कि ब्रज के किसी भी व्यक्ति को उपचार के लिए इधर-उधर न भटकना पड़े। कोरोना संक्रमण के बावजूद के.डी. हॉस्पिटल में निरंतर स्वास्थ्य सुविधाओं में विस्तार किया गया है। यहां आधुनिकतम जांच मशीनों, विशेषज्ञ चिकित्सकों, सुयोग्य नर्सेज तथा प्रशिक्षित पैरा मेडिकल स्टाफ के चलते लोगों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रही हैं।
भूतपूर्व सैनिकों और उनके परिजनों को चिकित्सा के लिए बाहर न जाना पड़े इसके लिए विगत 21 सितम्बर, 2020 को के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के चेयरमैन मनोज अग्रवाल और डायरेक्टर रीजनल सेण्टर (ईसीएचएस) बरेली के बीच अनुबंध-पत्र पर हस्ताक्षर किए गए थे। ईसीएचएस तथा के.डी. हॉस्पिटल के बीच अनुबंध होने के बाद यहां लगातार भूतपूर्व सैनिक और उनके परिजन चिकित्सा सुविधाओं का लाभ उठा रहे हैं।

ईसीएचएस, भारतीय सेना से रिटायर्ड डिफेंस पर्सन तथा उनके डिपेंडेंट्स को मेडिकल सुविधा प्रदान करती है। इस स्कीम के अंतर्गत रिटायर्ड डिफेंस पर्सन को रैंक के अनुसार एक बार फीस (कॉन्ट्रिब्यूशन) जमा करने पर उन्हें तथा उनके डिपेंडेंट को जीवन पर्यंत फ्री ऑफ कॉस्ट मेडिकल सुविधा प्रदान की जाती है। यह फैसिलिटी लेना आर्मी, नैवी तथा एयरफोर्स से रिटायर होने वाले जवानों, जेसीओ तथा अफसरों के लिए अनिवार्य है। सेवानिवृत्त होने के बाद डिफेंस पर्सन तथा उनके डिपेंडेंट के लिए ईसीएचएस कार्ड प्रदान किया जाता है।

के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के डीन डॉ. रामकुमार अशोका तथा चिकित्सा अधीक्षक डॉ. राजेन्द्र कुमार ने के.डी. हॉस्पिटल तथा ईसीएचएस के बीच हुए अनुबंध को भूतपूर्व सैनिकों और उनके परिजनों के लिए काफी लाभदायक बताया है।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *