अभिनेता Ram Kapoor का ट्रांसफॉर्मेंशन, पहचानना मुश्‍किल

नई दिल्ली। Ram Kapoor का वजन पहले से काफी घट चुका है. उन्होंने अपने वजन को घटाने के लिए जमकर पसीना बहाया है। Ram Kapoor अपनी नई तस्वीरों में काफी बदले हुए लग रहे हैं। राम ने अपने वजन कम कर लिया है और साथ में अपने लुक्स में भी कुछ बदलाव किए हैं।

राम कपूर के ग्रे हेयर और उनकी मूछों ने उनकी पर्सनैलिटी काफी चेंज कर दी है जबकि राम कपूर ने अपने बढ़े वजन के साथ कई मेन लीड शोज में काम किया है।

टीवी जगत के दिग्गज अभिनेताओं में से एक राम कपूर इन दिनों राम कपूर बिलकुल भी पहचान में नहीं आ रहे हैं, वजह है उनके वजन का घटना। उन्होंने अपने वजन को घटाने के लिए जमकर पसीना बहाया है इसलिए अब वह पहले से बहुत ज्यादा फिट नजर आ रहे हैं। उनकी लेटेस्ट तस्वीरों को देखकर शायद ही कोई उनको पहचान पाए।

बता देंं कि राम कपूर का जन्म 1 सितम्बर 1973 को दिल्ली में एक संपन्न पंजाबी खत्री परिवार में हुआ था। राम कपूर ने नैनीताल, उत्तराखंड के शेरवुड कॉलेज से अपनी स्कूलिंग की है। बालक राम पर अंग्रेजी भाषा का कुछ ऐसा असर रहा कि वह शुरू से ही बॉलीवुड से ज्यादा हॉलीवुड फिल्में देखा करते थे। कपूर जब नौवीं कक्षा में थे, तब पहली बार वह एक स्टेज प्ले का हिस्सा बनें, जिसमें उन्होंने लीड रोल किया। प्ले का नाम था- ‘Charley’s Aunt ‘। यहीं से उनके भीतर एक्टिंग करने को लेकर लालसा जगी।

राम कपूर ने मनोरंजन उद्योग को अपनाने का निर्णय लिया और यूसीएलए में फिल्म निर्माण के अध्ययन के इरादे से अमरीका के लॉस एंजिल्स के लिए रवाना हुए। यह उनका अभिनय के प्रति प्रेम था, जिसने उन्हें स्तानिस्लावस्की मेथड एक्टिंग एकेडमी, लॉस एंजिल्स, संयुक्त राज्य अमरीका, में शामिल होने के लिए मजबूर किया और यहां से 28 छात्रों की कक्षा में सफलतापूर्वक उत्तीर्ण होने वाले 12 विद्यार्थियों में से एक थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राम कपूर की मां रीता कपूर उनकी सबसे बड़ी समर्थक थीं, हालांकि उनके पिता अनिल कपूर को उनकी प्रतिबद्धता पर शक था और वह चाहते थे कि राम कपूर उनके ही नक्शेकदम पर चल कर कॉर्पोरेट जगत में शामिल हो जाएं। अपनी जीविका के लिए कपूर ने छोटे मोटे काम जैसे गाड़ियां, क्रेडिट कार्ड, केबल सदस्यता आदि बेचने का काम और स्टारबक्स में भी काम किया। टीवी पर उन्हें पहला ब्रेक मिला दूरदर्शन के शो ‘न्याय’ में, जिसे सुधीर मिश्रा डायरेक्ट कर रहे थे।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *