टोक्यो पैरालंपिक्स: बैडमिंटन स्पर्धा के फाइनल में पहुंचे सुहास एल वाई

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी सुहास एल वाई के शनिवार को टोक्यो पैरालंपिक्स की बैडमिंटन स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश करने पर बधाई और शुभकामनायें प्रेषित की है।
योगी ने ट्वीट किया “पैरालंपिक्स में डीएम गौतमबुद्धनगर सुहास एल. वाई. ने पुरुष बैडमिंटन स्पर्धा में आज अपने शानदार प्रदर्शन से फाइनल मैच में अपनी जगह सुनिश्चित की है। कल होने वाले फाइनल मैच में आपकी विजय के लिए हम सभी प्रदेशवासियों की ओर से शुभकामनाएं।”
कर्नाटक के शिगोमा शहर में जन्मे सुहास देश के पहले आईएएस अफसर हैं जो टोक्यो पैरालंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। प्राथमिक शिक्षा गांव में पूरी करने के बाद सुहास ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से कम्प्यूटर साइंस में बीटेक किया और बैंगलोर में एक आईटी कंपनी में नौकरी की। इस बीच उन्हीने यूपीएससी की परीक्षा पास की और साल 2007 में यूपी कैडर से आईएएस अधिकारी बने।
वह उत्तर प्रदेश के कई प्रमुख जगहों जैसे सोनभद्र, जौनपुर, हाथरस, महाराजगंज, मथुरा, आगार में तैनात रह कर अपनी सेवाएं दी हैं। आजमगढ़ डीएम सुहास यूपी कैडर के आईएएस हैं। सुहास एलवाई की पहली पोस्टिंग आगरा में बतौर असिस्टेंट कलेक्टर हुई थी। सुहास की दिलचस्पी बचपन से ही खेल के प्रति रही है और वह ड्यूटी खत्म होने के बाद बैडमिंटन खेलते थे। अपनी लगन और मेहनत के बूते 38 साल के सुहास ने पहले राष्ट्रीय और बाद में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में पदार्पण किया। वह अब तक के करियर में छह स्वर्ण और एक रजत पदक अपने नाम कर चुके हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *