टोक्‍यो पैरालिंपिक: टेबल टेनिस में भाविना ने भारत के लिए पदक पक्‍का किया

टोक्‍यो। टोक्‍यो पैरालिंपिक भाविनाबेन पटेल ने इतिहास बनाना जारी रखा। वह पैरालिंपिक के इतिहास में टेबल टेनिस इवेंट के फाइनल में पहुंचने वालीं पहली भारतीय बन गई हैं। उन्होंने सेमीफाइनल में चीन की मिआओ झैंग को 3-2 से हराया।
शनिवार को क्लास 4 के इस सेमीफाइनल में उन्होंने कमाल का खेल दिखाया। 34 वर्षीय पटेल ने पैरालिंपिक में अपने शानदार खेल से भारतीय खेमे में खुशी और हैरानी की लहर दौड़ा दी है। उन्होंने दुनिया की नंबर तीन खिलाड़ी को 7-11 11-7 11-4 9-11 11-8 से हराया। यह मुकाबला 34 मिनट तक चला।
फाइनल में उनका मुकाबला दुनिया की नंबर पैडलर चीन की यिंग झुओऊ से रविवार को होगा। गुजरात के मेहसाणा जिले के एक छोटे से दुकानदार हसमुखभाई पटेल की बेटी भाविना को मेडल का दावेदार नहीं माना जा रहा था लेकिन अपने पहले ही पैरालिंपिक में उन्होंने यादगार बना दिया।
उन्होंने कहा, ‘जब मैं यहां आई, तो मैं सिर्फ यही सोचा था कि मैं अपना 100 पर्सेंट दूंगी। मैंने इसके अलावा ज्यादा नहीं सोचा था। अगर मैंने अपना 100 प्रतिशत दिया तो मेडल आएगा। मैंने यही सोचा था।’ पटेल को 12 साल की उम्र में पोलियो हो गया था। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और जीवन को नई दिशा देने का काम जारी रखा।
व्हीलचेयर पर खेलने वालीं भाविना ने कहा, ‘अगर मैं इस आत्मविश्वास को कायम रख पाई तो देश के लोगों की दुआओं की मदद से, मुझे लगता है कि कल मैं गोल्ड जीत जाऊंगी। मैं फाइनल के लिए तैयार हूं और इसमें भी अपना 100 पर्सेंट दूंगी।’
सेमीफाइनल में पहले गेम में पटेल कड़े मुकाबले में हारीं लेकिन इसके बाद उन्होंने दमदार वापसी की। उन्होंने 2-1 की बढ़त बना ली। वह शानदार फॉर्म में थीं और सिर्फ चार मिनट में उन्होंने तीसरा गेम अपने नाम कर लिया। चौथे गेम में झैंग ने वापसी की और जीत हासिल की। अब मैच निर्णायक गेम में पहुंचा। यहां पटेल ने जल्द ही 5-0 की बढ़त बना ली लेकिन चीनी खिलाड़ी ने फिर वापसी की। वह 5-9 से पीछे चल रही थीं लेकिन लगातार तीन पॉइंट्स जीतकर उन्होंने स्कोर 8-9 बना लिया।
पटेल ने खुद को तैयार किया और टाइम-आउट लिया। इसके बाद उन्होंने मुड़कर नहीं देखा। दो मैच पॉइंट्स के बाद उन्होंने गेम और मैच अपने नाम किया। यह पटेल को झाऊ से फाइनल मुकाबले में कड़ी चुनौती देखने को मिलेंगी। बुधवार को शुरुआती ग्रुप मुकाबले में उन्होंने झाऊ से हार का सामना करना पड़ा था। पटेल ने क्वॉर्टर फाइनल में 2016 में रियो ओलिंपिक की गोल्ड मेडलिस्ट बोरिस्लावा पैरिक रैनकोविक को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *