टोक्यो ओलिंपिक: महिला मुक्केबाज लवलिना क्वार्टर फाइनल में पहुंचीं

टोक्यो ओलिंपिक में मंगलवार को भारतीय खिलाड़ी कोई मेडल नहीं जीत सके। शूटिंग में 10 मीटर एयर पिस्टल और 10 मीटर एयर राइफल के मिक्स्ड इवेंट में भारतीय निशानेबाजों ने निराश किया। टेबल टेनिस में अचंता शरत कमल नंबर-1 खिलाड़ी के सामने कड़ी चुनौती पेश करने बावजूद हार गए। हालांकि, मुक्केबाजी और हॉकी में अच्छी खबरें जरूर मिली हैं। महिला मुक्केबाज लवलिना बोरगोहेन 69 किलोग्राम वेट कैटेगरी के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं। वहीं, पुरुष हॉकी टीम ने स्पेन को 3-0 से हराकर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले मुकाबले में मिली हार की निराशा को पीछे छोड़ दिया है।
3-2 से जीतीं लवलिना
पहली बार ओलिंपिक में हिस्सा ले रही लवलिना बोरगोहेन ने दमदार खेल दिखाते हुए जर्मनी की नादिने एपेट्ज को हराया। 23 साल की लवलिना ने 35 साल की जर्मन प्रतिद्वंद्वी पर तीनों राउंड में हावी रहीं। उन्होंने यह बाउट स्प्लिट डिसिजन के आधार पर 3-2 से जीता। लवलिना अब मेडल पक्का करने से सिर्फ एक जीत की दूरी पर हैं। बॉक्सिंग में सेमीफाइनल में पहुंचते ही कम से कम ब्रॉन्ज मेडल पक्का हो जाता है। लवलिना की क्वार्टर फाइनल बाउट 30 जुलाई को चाइनीज ताइपे की चिन निएन चेन से होगी।
बॉक्सिंग में भारत की सिर्फ एक महिला मुक्केबाज एमसी मेरीकॉम ही ओलिंपिक मेडल जीत पाई हैं। मेरीकॉम ने 2012 लंदन ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। मेरीकॉम टोक्यो ओलिंपिक में भी प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंच चुकी हैं।
निशाने से फिर भटके भारतीय शूटर्स
शूटिंग इवेंट्स में भारतीय निशानेबाजों का निराशाजनक प्रदर्शन जारी है। मंगलवार को दो अलग-अलग इवेंट में भारत की चार जोड़ियों ने हिस्सा लिया लेकिन इनमें से कोई भी मेडल राउंड में नहीं पहुंच सकी।
10 मीटर एयर पिस्टल के मिस्क्ड इवेंट में मनु भाकर और सौरभ चौधरी की जोड़ी क्वालिफिकेशन राउंड-2 में सातवें स्थान पर रही।
यशस्विनी देसवाल और अभिषेक वर्मा की जोड़ी क्वालिफाइंग राउंड-1 में ही बाहर हो गई।
10 मीटर एयर राइफल में दिव्यांश सिंह पंवार और इलावेनिल वालारिवन की जोड़ी क्वालिफिकेश राउंड में 12वें स्थान पर रही। अंजुम मुद्गिल और दीपक कुमार की जोड़ी 18वें स्थान पर रही।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *