फैक्स मशीन ने सूबे में लोकतंत्र का गला घोंट दिया: नेशनल कॉन्फ्रेंस

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में विधानसभा भंग होने के बाद सियासी दंगल शुरू हो गया। नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) ने राज्यपाल के कदम को राज्य के खिलाफ साजिश बताते हुए आरोप लगाया कि कश्मीर में सांप्रदायिक माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है। एनसी ने कहा कि राज्यपाल भवन की फैक्स मशीन ने सूबे में लोकतंत्र का गला घोंट दिया।
‘फैक्स मशीन से लोकतंत्र का गला घोंटा’
एनसी नेता और राज्य के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘नुकसान के बावजूद हम पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने को राजी हो गए थे। आज हम अपने विधायकों के साथ आखिरी बातचीत कर समर्थन का पत्र पीडीपी को सौंपने वाले थे।’ राज्यपाल भवन की फैक्स मशीन पर तंज कसते हुए उमर ने कहा कि यह फैक्स मशीन वन वे है। उन्होंने कहा, ‘पीडीपी की चिट्ठी राजभवन पहुंची ही नहीं। फैक्स मशीन ने लोकतंत्र का कत्ल किया है।’
राज्य के खिलाफ हो रही है साजिश: उमर
राज्य के खिलाफ साजिश का आरोप लगाते हुए उमर ने कहा, ‘राज्य को साजिशों का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। राज्य में बदलते हालात से लोग परेशान हैं। जब पीडीपी की सरकार गिरी थी तभी हम राज्य में चुनाव चाहते थे।’ राज्यपाल सत्यपाल मलिक के विधायकों की खरीद फरोख्त वाले बयान पर उमर ने सवाल किया कि चूंकि राज्यपाल ने यह बात कही है तो उन्हें इसके बारे में सबूत पेश करने चाहिए। उन्होंने कहा, ‘विधायकों को खरीदने का काम कौन कर रहा है। पैसे का इस्तेमाल कौन कर रहा है? इसके बारे में जानकारी दी जानी चाहिए।’
‘जब पीडीपी-बीजेपी की सरकार तो हमारी क्यों नहीं’
राज्यपाल के विरोधी विचारधारा वालों की सरकार वाले तर्क पर उमर ने कहा कि जब पीडीपी और बीजेपी मिलकर सरकार बना सकती है तो हम क्यों नहीं। जब दो अलग-अलग विचारधारा वाले लोग मिल सकते हैं तो हमें भी यह हक है।’
2015 के ऑफर को किया याद
उमर ने कहा कि जब पिछले विधानसभा चुनाव में हम हार गए थे तब सारे मतभेद भुलाकर पीडीपी को बिना शर्त समर्थन देने को राजी थे। उन्होंने कहा, ‘2015 में हमने जो शर्त पीडीपी के साथ रखी थी उसे मान लिया जाता तो रियासत की यह हालत नहीं होती। उस समय बीजेपी-पीडीपी के बीच खुफिया बातचीत चल रही थी। हमने बिना शर्त समर्थन देने की बात कही थी। लेकिन हमारी बात नहीं मानी गई।’
राम माधव पर बरसे उमर
बीजेपी नेता राम माधव के राज्य में सरकार बनाने के लिए सीमा पार से एनसी और पीडीपी को निर्देश वाले बयान पर बिफरते हुए उमर ने कहा कि उन्हें इसके पक्ष में सबूत दिखाना चाहिए। उमर ने कहा, ‘पीडीपी के वर्करों ने कुर्बानियां दी हैं। आरोप लगाकर भाग जाना बुजदिली है। इल्जाम लगाने की हिम्मत है तो सबूत भी दिखाएं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *