अयोध्या में तीन दिवसीय के दीपोत्सव की शुरुआत, सीएम योगी और राज्‍यपाल पहुंचे

अयोध्‍या। दीपावली पर अयोध्या भगवान राम के स्वागत के लिए सज गई है। आज पहली बार रामलला के मंदिर में 11 हजार दीप जलाए जाएंगे। CM योगी आदित्यनाथ और गवर्नर आनंदीबेन पटेल अयोध्या पहुंच चुके हैं। दोनों ने जन्मभूमि पहुंचकर रामलला की पूजा की। इसके बाद रामकथा पार्क में भगवान की अगवानी की। योगी और पटेल शाम को दीपोत्सव की शुरुआत करेंगे।
अयोध्या में तीन दिन के दीपोत्सव की शुरुआत शुक्रवार से हो रही है। इसी दिन भगवान राम का राज्याभिषेक भी होगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- भगवान राम का मंदिर बनने के इंतजार में दुनियाभर में भक्तों की पीढ़ियां गुजर गईं। भक्तों का यह सपना पीएम मोदी की वजह से पूरा हुआ। आज पांच सदी का संकल्प पूरा होता हुआ दिखाई दे रहा है।

 

अपडेट्स
सीएम और गवर्नर 3 बजे हेलीकॉप्टर से सरयू तट पर उतरे। यहां से जन्मभूमि पहुंचकर रामलला का पूजन किया।
श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने गवर्नर ने गवर्नर और सीएम का स्वागत किया।
उसके बाद सीएम और गवर्नर राम कथा पार्क पहुंचे। जहां हेलीकॉप्टर से पहुंचे राम, सीता और लक्ष्मण की अगवानी की।
राम सीता और लक्ष्मण के स्वागत में सरयू तट पर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की गई।
इसके बाद भरत मिलाप का कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसमें डिप्टी सीएम केशव मौर्य भी मौजूद रहे।
सीएम और गवर्नर ने राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न और गुरु वशिष्ठ का स्वागत किया।
सीएम योगी आदित्यनाथ सभी को साथ लेकर राम कथा मंच पर पहुंचे।
दीपोत्सव के लिए सरयू के 24 घाटों को छह लाख दीयों से सजाया गया है। ये आज शाम जगमगाएंगे। मुख्यमंत्री और राज्यपाल राम की पैड़ी पर दीपदान भी करेंगे।
दीपोत्सव के दौरान पूरी अयोध्या राममय नजर आ रही है। प्रशासन ने शहर में रामकथा के प्रसंग उकेरे हैं, तो वहीं स्थानीय कलाकारों की मंडलियां रामायण के पात्रों का वेश धारण किए हुए हैं।
कोविड प्रोटोकाल का पालन कराने के लिए अयोध्या को सील कर दिया गया है। बाहरी लोगों के अयोध्या में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।
दीप श्रृंखला में महिला सशक्तिकरण का प्रदर्शन
सरयू के तटों पर सजी दीप श्रृंखला में महिला सशक्तिकरण का संदेश दिया गया है। अवध यूनिवर्सिटी के कला और फाइन आर्ट विभाग के स्टूडेंट्स ने दीपों के साथ राम कथा के प्रसंगों का दिखाया है।
प्रमुख झलकियों में घाट संख्या दो पर सामाजिक समरसता और महिला सशक्तीकरण का संदेश दिया गया है। घाट संख्या तीन पर वनवास से 14 साल बाद लौटे भगवान श्रीराम के पुष्पक विमान को दीपों से तैयार किया गया है। घाट संख्या पांच पर पहाड़ लेकर उड़ते हनुमानजी की छवि दिखाई गई है। वहीं घाट संख्या 10 पर श्रीराम दरबार की पेंटिग बनाई गई है।
ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया
DIG दीपक कुमार के मुताबिक ड्रोन कैमरे से पूरे अयोध्या की निगरानी की जा रही है। बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है। अयोध्या में ही 12 स्थानों पर रूट डायवर्ट किया गया है। एंबुलेंस और मरीज वाहनों के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *