कपल्स को कभी खुश नहीं रहने देतीं ये पांच बातें…

हम में से ज्यादातर लोगों ने कई शादीशुदा जोड़ों को यह कहते हुए सुना होगा कि दिन-पे -दिन उनका रिश्ता खराब हो रहा है। ऐसा अगर आपके साथ भी है तो आपको सबसे पहले यह जानने की जरूरत है कि आखिरकार ऐसी क्या वजह हैं, जिनके कारण आपका रिश्ता लाख कोशिशों के बाद भी सही नहीं हो रहा।
दुनिया में ऐसा कोई कपल नहीं है, जिनके बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर खिटपिट न होती हो। जहां कुछ कपल्स कोई भी फैसला लेने से पहले एक दूसरे के साथ लगभग हर एक बात पर चर्चा करना पसंद करते हैं तो वहीं कुछ रिलेशन ऐसे भी होते जिनमें अपनी समस्याओं या एक-दूसरे की इच्छाओं पर बात करते हुए ही विवाद शुरू हो जाता है, जिसके कारण कभी-कभार दोनों के बीच की बात इतनी बिगड़ जाती है कि वह एक-दूसरे से बात तक करना बंद कर देते हैं।
एक रिश्ते में ऐसा होने का कारण बहुत हद तक गलतफहमियों को माना जाता है, जिनके कारण कई बार पुराना और मजबूत रिश्ता भी टूटने की कगार पर होता है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक रिश्ते में वो पांच बातें, जो हमेशा कपल्स के बीच दरार पैदा करती हैं।
बातों में कमी आना
वो कहते हैं न कि एक खुशहाल रिश्ते को कभी पूरी तरह से झगड़े से रहित नहीं होना चाहिए। पति-पत्नी की छोटी-मोटी तकरार ही उनके रिश्ते को मजबूत बनाती है। एक-दूसरे से रूठना-मनाना ही पति-पत्नी के रिश्ते की नींव है। ऐसे में अगर आपके रिश्ते में अब किसी भी तरह की कोई तकरार नहीं बची है तो इसका मतलब है कि युगल (पति-पत्नी) अब पूरी तरह से इस रिश्ते से तंग आ चुका है या दोनों ने अपने रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए हर संभव प्रयास करने छोड़ दिए हैं।
स्वभाव में अंतर
पति और पत्नी दो अलग इंसान हैं, ऐसे में एक-दूसरे के स्वभाव में अंतर होना भी बहुत साधारण सी बात है लेकिन अगर आप ने एक-दूसरे के स्वभाव में अंतर होने को ही अपने रिश्ते की कमजोरी मान लिया है तो यह आपके रिश्ते को पूरी तरह से बर्बाद कर देगा।
कभी-कभार पार्टनर के अलग-अलग स्वभाव होने की वजह से भी रिलेशनशिप में दूरियां बढ़ने लगती हैं। हालांकि, हम चाहे तो समय रहते हुए इस अंतर को दूर करके एक दूसरे के स्वभाव में ढलने का प्रयास कर सकते हैं।
प्राथमिकताओं को नजरअंदाज करना
एक रिलेशनशिप की डोर तब डगमगाने लगती है जब पार्टनर एक-दूसरे की प्राथमिकताओं को नजरअंदाज कर रिश्ते में अपनी मन-मर्जी चलाने लगते हैं। हम यह क्यों भूल जाते हैं कि किसी भी रिश्ते को एकतरफा नहीं चलाया जा सकता। एक अच्छे रिलेशन के लिए पति-पत्नी दोनों को ही जरूरी है कि वह एक-दूसरे की प्राथमिकताओं को महत्व दें।
छोटी-छोटी बातों पर बिफर जाना
कभी-कभार रिलेशन में अपने ही फैसलों को तवज्जो देने के कारण भी तनाव बढ़ने लगता है, जिसके कारण अक्सर छोटी-छोटी बातों पर भी झगड़े शुरू जाते हैं। ऐसे में अगर आप भी चाहते हैं कि आपके रिश्ते में कोई परेशानी न आए तो सबसे पहले एक-दूसरे से अपनी समस्याओं, अपनी भावनाओं और इच्छाओं पर खुलकर बात करना शुरू करें।
ऐसा इसलिए क्योंकि रिलेशन में तनाव तभी तक रहता है जब कपल्स एक-दूसरे से अपनी बातों को शेयर नहीं करते। कोई भी रिश्ता एक दूसरे की भावनाओं को समझे बिना बेहतर नहीं हो सकता।
गलतियां न गिनाएं
कई बार देखा गया है कि जब कपल्स के बीच कहा-सुनी शुरू होती है तो वह अक्सर एक-दूसरे को उनकी गलतियां गिनाना शुरू देते हैं, जोकि सरासर गलत है। हमें इस बात को समझना चाहिए कि हमारा रिश्ता पहले से बिगड़ा हुआ है। ऐसे में अगर आप पुरानी बातों के गड़े-मुर्दे उखाड़ने में लग जाएंगे तो बात बनने की जगह और बिगड़ जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *