आर्मी से स्‍ट्राइक का सबूत मांगने वालों की कोई हैसियत नहीं: विद्युत जामवाल

मुंबई। आर्मी परिवार से फिल्मों में कदम रखने वाले विद्युत जामवाल ने एयर स्ट्राइक पर सेना और सरकार से सबूत मांगने वालों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए कहा है कि जवानों के सामने उनकी कोई हैसियत नहीं है।
जामवाल ने कहा कि सेना के काम से जुड़ी किसी भी तरह की कोई जानकारी पब्लिक में जाहिर करने से दुश्मन देश सतर्क हो जाता है।
गौरतलब है कि पुलवामा टेरर अटैक के बाद भारतीय सेना द्वारा किये गए एयर स्ट्राइक के बाद कुछ लोगों और खासकर विपक्ष ने सरकार से सेना द्वारा किए गए स्ट्राइक के सबूत की मांग की। सरकार और सेना के काम पर सबूत मांगने वालों को अभिनेता विद्युत जामवाल ने यह करारा जवाब दिया है। विद्युत ने कहा कि देश के जवानों के सामने किसी की कोई हैसियत नहीं है। किसी को भी सेना से कोई सबूत मांगने का कोई हक नहीं है।
विद्युत बताते हैं, ‘हमारी तो कोई हैसियत ही नहीं है देश के जवानों के सामने। ऐसे सबूत मांगने वालों को यह नहीं पता कि जवानों से किसी भी तरह का कोई सबूत मांगना, दुश्मन देश के लिए जानकारी प्रदान करने जैसा है। भारतीय सेना से किसी को भी कोई सबूत मांगने का कोई हक नहीं है। मेरा परिवार आर्मी से संबंधित है, तो मेरी पूरी परवरिश युद्ध क्षेत्र के करीब और उन बातों को सुनते हुए हुई है इसलिए मैं इन बातों को अच्छी तरह समझता हूं। सेना को युद्ध से संबंधित कोई भी जानकारी पब्लिक को देने की आवश्यकता नहीं होती है। ऐसी जानकारियां और सबूत अगर पब्लिक में आ जाते हैं तो दुश्मन देश सतर्क होकर कार्यवाही करता है।’
सबूत मांगने वालों को लताड़ते हुए विद्युत ने कहा, ‘आप थोड़ा बाहर निकलें तो पता चलेगा कि देश के जवान क्या करते हैं। युद्ध हर समय हो रहा होता है। आप अभी जाइए जम्मू में अभी भी वहां तनाव और युद्ध का माहौल है। गोलियों की आवाजें हैं। लोग जब इस बारे में न्यूज़ में पढ़ते हैं, तब ही उनको लगता है कि युद्ध हो रहा है। मैंने युद्ध में अपने बहुत से दोस्तों को खोया है। 1971 की लड़ाई में मेरे मामा शहीद हो गए थे, अब मैं इसका प्रूफ तो नहीं दे सकता न, मामा जब शहीद हुए मेरी मामी 3 महीने की प्रेग्नेंट थीं। हमें इस बाद का गर्व है, लेकिन इन बातों का प्रूफ नहीं दे सकते हैं।’
विद्युत जामवाल इन दिनों अपनी रिलीज़ के लिए तैयार फिल्म ‘जंगली’ को लेकर खबरों में हैं। फिल्म का ट्रेलर दर्शकों को काफी पसंद आया है, फिल्म रिलीज़ का बेसब्री से इंतजार कर रहे फैन्स को बता दें यह फिल्म देशभर के सिनेमाघरों में 29 मार्च को रिलीज़ होगी। फिल्म की कहानी हाथी (भोला) और इंसान (राज-विद्युत) के बीच की दोस्ती और फिर लालची शिकारियों से जंगल के जानवरों को बचाने के बीच उलझी है, जो दर्शकों के इमोशंस को छूने का दम रखती है। इतना ही नहीं, इस फिल्म में प्राचीन मार्शल आर्ट की तकनीक कलारिपयट्टु और एनिमल मूवमेंट का खास मिक्सचर दिखेगा। बड़े पर्दे पर करीब 40 साल बाद असली हाथी देखे जा सकेंगे। फुल ऐक्शन से भरपूर यह फिल्म ‘जंगली’ जानवरों से इंसान की दोस्ती की मिसाल दिखाने जा रही है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »