यूं ही नहीं है बच्चों के टूटे हुए दांत संभालकर रखने की परंपरा, सेहत से जुड़ा है मामला

बच्चे के दूध के दांत को संभाल कर रखने का सीधा संबंध आपके बच्चे की सेहत से जुड़ा है। वैज्ञानिकों की मानें तो आपके बच्चे का दांत डेंटल स्टेम सेल्स को एक्सट्रैक्ट करने में यूज हो सकता है, जिससे आपका बच्चा कई खतरनाक बीमारियों से बच सकता है।
जब आपके बच्चे के दूध के दांत टूटते हैं तो उस समय बच्चे के साथ-साथ पेरेंट्स के अंदर भी काफी मिक्स्ड इमोशन्स उभर रहे होते हैं। हम सब के पास अपने बच्चे के दूध के दांत से जुड़ी कई कहानियां होती हैं। दूध के दांत का टूटना किसी बच्चे के लिए डरावना तो किसी के लिए तकलीफदेह हो सकता है।
हमारे यहां बहुत से लोग जब बच्चे के दूध के दांत टूटते हैं तो उसे रुई में लपेटकर कर गार्डन की मिट्टी में दबा देते हैं लेकिन बच्चे के दूध के टूटे हुए दांत को संभालकर रखने के पीछे कई वजहे हैं।
हमारा बॉडी सेल्स से बनी है। इनमें से स्टेम सेल सबसे यंग होती है जिससे कि और भी कई तरह की सेल्स बनती हैं। इन स्टेम सेल्स को बच्चे के दूध के दांत से एक्सट्रैक्ट किया जा सकता है। अगर बच्चों के दूध के दांत को सही तरीके से संभालकर रखा जाए तो बाद में इससे और भी स्टेम सेल्स बनाए जा सकते हैं, जो कि किसी डैमेज सेल को रिप्लेस कर सकता है।
अनुसंधानकर्ता स्टेम सेल्स के और फायदों पर अभी रिसर्च कर रहे हैं। ये स्टेम सेल्स कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ने में भी आपके लिए मददगार हो सकते हैं। इन स्टेम सेल्स को स्टोर करना काफी खर्चीला हो सकता है। बहुत से पेरेंट्स अपने बच्चे के दांत के स्टेम सेल्स को प्रिजर्व रखने के लिए काफी खर्च करते हैं ताकि बच्चा जानलेवा बीमारियों से बच सके।
हाल ही में हुई एक स्टडी के अनुसार अडल्ट स्टेम सेल्स में बच्चों के दांत से निकली स्टेम सेल्स से ज्यादा पोटेन्शियल होता है, ये बिमारियों से लड़ने में ज्यादा कारगार हो सकता है। अभी ये फैक्ट पूरी तरह से साबित नहीं हुआ है। स्टेम सेल्स को स्टोर करना भले ही काफी खर्चीला हो लेकिन ये आप पर निर्भर करता है कि आप ये करना चाहते हैं या नहीं।
-एजेंसिंयां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *