राफेल डील को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला राहुल की राजनीति पर तमाचा है: अमित शाह

नई दिल्ली। राफेल डील पर कथित घोटाले के आरोप के मामले में सुप्रीम कोर्ट से मोदी सरकार को क्लीनचिट मिलने के बाद बीजेपी कांग्रेस पर हमलावर हो गई है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कहा है कि राफेल सौदे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सत्य की जीत हुई है। शाह ने राहुल पर हमला बोलते हुए कहा है कि देश की जनता कभी नहीं मानेगी कि चौकीदार चोर है। बता दें कि राहुल गांधी ने कई मंचों से पीएम मोदी पर घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा था देश का चौकीदार चोर है। एक सवाल के जवाब में शाह ने कहा कि चुनाव में हानि-लाभ अलग बात है, लेकिन देश की सुरक्षा से जुड़े मसले पर ऐसे आरोप नहीं लगाने चाहिए। शाह ने राहुल गांधी से माफी मांगने को कहा है।
आपको बता दें कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस और राहुल गांधी ने राफेल डील में कथित घोटाले का मामला जोरशोर से उठाया था। शुक्रवार को इस मामले में दाखिल की गई सारी याचिकाओं को खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राफेल डील के सौदे में किसी तरह की अनियमितता नहीं मिली है। इसके बाद केंद्र सरकार और बीजेपी फ्रंट फुट पर आ गई है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि राहुल गांधी को सलाह है कि सूरज के सामने कितनी भी मिट्टी उछाल लें, कीचड़ उछाल लें वह खुद पर गिरती है।
‘जेपीसी जांच से नहीं भाग रहे, सदन में बहस को तैयार’
एक सवाल के जवाब में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि सरकार इस मामले की संयुक्त संसदीय कमेटी (जेपीसी) की जांच से भाग नहीं रही है लेकिन कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट में क्यों नहीं गई तथ्यों के साथ, राहुल क्यों भाग रहे हैं।’ शाह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने वाले याचिकों, जिनमें अरुण शौरी, यशवंत सिन्हा जैसे नेता शामिल रहे, कांग्रेस की बी टीम भी कहा है। शाह ने कहा कि कांग्रेस को चुनौती है कि तथ्य लेकर सदन में चर्चा करें।
‘देश की सबसे पुरानी पार्टी ने जनता को गुमराह करने का प्रयास किया’
अमित शाह ने कहा, ‘आजादी के बाद एक कोरे झूठ के आधार पर देश की जनता को गुमराह करने का इतना बड़ा प्रयास कभी नहीं हुआ। दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह प्रयास देश की सबसे पुरानी पार्टी के अध्यक्ष ने किया। राहुल गांधी ने झूठ का सहारा लेने की एक नई राजनीति की शुरुआत की है। सुप्रीम कोर्ट का आज का फैसला ऐसी राजनीति के मुंह पर तमाचा है। सुप्रीम कोर्ट के अंदर अलग-अलग दायर की गई चार याचिकाओं के तहत मुख्यतया तीन चीजों पर सवाल उठाए गए थे। निर्णय प्रक्रिया, कीमत का मुद्दा और ऑफसेट पार्टनर। इन तीनों मुद्दों पर चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली बेंच ने अपना आदेश सुनाया है। निर्णय प्रक्रिया के प्रति असंदिग्ध रूप से संतुष्टि व्यक्त की है। रिकॉर्ड की डिटेल जांच कर सुप्रीम कोर्ट ने जांच की मांग को ठुकरा दिया है। एयरक्राफ्ट की क्वॉलिटी और उसकी सामरिक जरूरत को भी सुप्रीम कोर्ट ने माना है।’
अंबानी को फायदा पहुंचाने के आरोप का भी दिया जवाब
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मोदी सरकार पर राफेल डील में अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अमित शाह ने इन आरोपों का भी जवाब दिया। शाह ने कहा, ‘कोर्ट ने प्राइस के डिटेल की जांच की है। अधिकारियों ने बताया है कि इससे देश को फायदा हुआ है। सुप्रीम कोर्ट ने इससे सहमति जताई है। कांग्रेस ने ऑफसेट पार्टनर के लिए हल्ला मचाया गया। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी राय जजमेंट के अंदर रखी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि भारत सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं है। यह आरोप लगाने वाले के मुंह पर तमाचा है।’
-एजेंसिंयां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *