देश में कोरोना के मरीजों का रिकवरी रेट 13.06 से 25.18 प्रतिशत हुआ

नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस से निपटने और लॉकडाउन की स्थिति को लेकर गुरुवार को स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय की संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस हुई। इस मौके पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में 630 लोग ठीक हो गए हैं। अभी टोटल रिकवरी रेट 25.18 प्रतिशत है, जो 14 दिन पहले 13.06 फीसद थी।

इसमें लगातार बढ़ोतरी हो रही है। यह पॉजिटिव साइन है। डेथ रेट 3.2 फीसद है। 78 प्रतिशत मौतों में ऐसे केस रहे हैं जिन्हें और भी कई बीमारियां थीं। देश का डबलिंग रेट बढ़कर 11 दिन हो गया है। डेथ रेट 3.2 फीसद है।

उन्‍होंने कहा कि देश में दोगुना होने की दर (डब्लिंग रेट) लॉकडाउन से पहले 3.41 था जो अब बढ़कर 11 दिन हो गया है। कुछ राज्य/केंद्र शासित प्रदेश जैसे उत्तर प्रदेश, दिल्ली, जम्मू कश्मीर, उड़ीसा, राजस्थान, तमिलनाडु, पंजाब में डब्लिंग रेट 11 से 20 दिन पाया गया है। लद्दाख, कर्नाटक, हरियाणा, उत्तराखंड और केरल में 20-40 दिन का डब्लिंग रेट है। असम, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ और हिमाचल प्रदेश जैसे कुछ राज्यों में 40 दिनों से ऊपर का भी डब्लिंग रेट है।

उन्‍होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में 1780 नए केस रिपोर्ट किए गए। कुल कोरोना पॉजिटिव मामले 33050 जिसमें से एक्टिव कोरोना केस 23651 हैं। अभी तक कुल 8324 ठीक हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि जहां तक टेस्टिंग प्रोटोकॉल की बात है हम केवल RT-PCR टेस्ट ही कर रहे हैं।

गृह मंत्रालय की प्रवक्ता और संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने बताया कि दूसरे राज्यों में जाने वाले लोगों की स्क्रीनिंग होगी, बस में सोशल डिस्टैंसिंग का ध्यान रखा जाएगा। बस की सैनिटाइजेशन होगी। पहुंचने पर हेल्थ चेकअप होगा। कोई लक्षण न मिलने पर 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन किया जाएगा। समय-समय पर स्वास्थ्य का परीक्षण होगा।

उन्‍होंने कहा कि हैदराबाद का दौरा करने वाली केंद्रीय टीम ने पाया है कि राज्य के पास पर्याप्त संख्या में टेस्‍ट किट, पीपीई आदि हैं। राज्य मरीजों को परीक्षण से लेकर डिस्चार्ज तक ट्रैक करने के लिए एंड-टू-एंड आईटी डैशबोर्ड का उपयोग कर रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *