मुख्यमंत्रियों से प्रधानमंत्री ने कहा, गांवों को कोरोना मुक्त रखना सुनिश्‍चित करें

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोविड-19 की समीक्षा बैठक में गांवों को कोरोना संकट से दूर रखने पर जोर दिया।
उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में ढील के बाद हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती गांवों को कोरोना मुक्त रखने की है और हमें इसे सुनिश्चित करना ही होगा।
पीएम ने ‘दो गज दूरी’ का मंत्र दोहरता हुए कहा कि इस लड़ाई में सोशल डिस्टैंसिंग ही सबसे कारगर हथियार है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज पूरी दुनिया कोरोना संकट से निपटने के लिए भारत के उठाए कदमों की तारीफ कर रहा है, इसके लिए सभी राज्यों के प्रयास सराहनीय हैं।
तमिलनाडु की अपील, इस महीने मत चलाएं रेल
इस मीटिंग में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने 31 मई तक राज्य में रेल सेवा बहाल नहीं करने का आग्रह किया। सीएम के पलनिसामी ने प्रधानमंत्री से कहा कि वो तमिलनाडु में 31 मई तक ट्रेन सर्विस की अनुमति नहीं दें। उन्होंने इसके लिए चेन्नै में कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्या का हवाला दिया और कहा कि 31 मई तक रेग्युल एयर सर्विस पर भी पाबंदी लगी रहे।
प्रधानमंत्री ने क्या-क्या कहा
बहरहाल, प्रधानमंत्री ने 27 अप्रैल के बाद मुख्यमंत्रियों के साथ पहली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में जिन बातों पर जोर दिया, वो इस प्रकार हैं…
1. दुनिया ने कोविड-19 महामारी से निपटने के भारत के तौर-तरीकों का लोहा माना है। भारत सरकार इस संबंध में सभी राज्य सरकारों के प्रयासों की सराहना करती है। हमें आगे भी इसी जोश के साथ आगे बढ़ते रहना है।
2. अब हमें साफ पता चल चुका है कि देश के किन-किन इलाकों में कोरोना का खतरा ज्यादा है और अभी कौन से इलाके बहुत ज्यादा प्रभावित हैं। पिछले कुछ हफ्तों में जिला स्तर के अधिकारियों को भी पता चल चुका है कि ऐसे वक्त में कौन-कौन से कदम उठाने चाहिए। कैबिनेट सेक्रटरी ने सोमवार को भी राज्यों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों को ताजा हालात के साथ-साथ भारत सरकार की तरफ से उठाए जा रहे कदमों से अवगत कराया था।
3. देश के कई हिस्सों में धीरे-धीरे ही सही, लेकिन आर्थिक गतिविधियां जोर पकड़ने लगी हैं। आने वाले दिनों में यह प्रक्रिया और तेज होगी।
4. हमें पक्का यकीन करना चाहिए कि अब कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को और ज्यादा केंद्रित करना होगा।
5. हमें आगे बढ़ते हुए अपना ध्यान संक्रमण रोकने और यह सुनिश्चित करने पर केंद्रित करना होगा कि लोग सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करने समेत अन्य सावधानियां बरत रहे हैं। इसके लिए हमें ‘दो गज दूरी’ का महत्व बहुत बढ़ जाता है, इसलिए हमें इसे सुनिश्चित करना ही पड़ेगा।
6. हमें पूरी तरह सुनिश्चित करना होगा कि ग्रामीण भारत इस संकट से मुक्त रहे।
7. कुछ भी निष्कर्ष निकालने से पहले हमने सभी मुख्यमंत्रियों को बोलने का आमंत्रण दिया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *