प्रधानमंत्री ने जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान और जय अनुसंधान का नारा दिया

जालंधर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पंजाब के जालंधर के लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (एलपीयू) में भारतीय विज्ञान कांग्रेस के 106वें सत्र का उद्घाटन करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने छात्रों को संबोधित करते हुए जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान और जय अनुसंधान का नारा दिया। इस दौरान पीएम मोदी ने छात्रों को इनोवेशन की जरूरत पर फोकस करने को कहा।
पीएम मोदी ने यहां छात्रों को किसान हित की दिशा में कार्य करने को कहा। उन्होंने कहा, ‘हमारे देश में कई ऐसे किसान हैं जिनके पास दो हेक्टेयर से भी कम जमीन है। उनको कम श्रम से अधिक पैदावार के लिए उन्नत टेक्नॉलजी की जरूरत है। हमने कृषि विज्ञान में काफी तरक्की कर ली है, पैदावार और गुणवत्ता भी बढ़ी है लेकिन न्यू इंडिया की जरूरतों को पूरा करने के लिए अभी बहुत कुछ करने की जरूरत है। बिग डेटा, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस और ब्लॉकचेन से जुड़ी तमाम टेक्नॉलजी का कम कीमत में कारगर इस्तेमाल खेती में कैसे हो इस पर हमारा फोकस होना चाहिए।’
पीएम मोदी ने कहा, ‘जिस तरह हम ईज ऑफ डूइंग बिजनस में आगे बढ़ रहे हैं, उसी तरह सवा सौ करोड़ भारतीयों के लिए ईज ऑफ लिविंग पर भी काम करना होगा।’ उन्होंने कहा कि अपने देश के कम बारिश वाले इलाके में बेहतर ढंग से सूखा प्रबंधन करने पर ध्यान देना होगा। इससे किसान के साथ अनेक जिंदगियां बचेंगी। इसी के साथ बच्चों में कुपोषण रोकने के लिए, चिकुनगुनिया और इंसेफ्लाइटिस मुक्त करने के लिए इलाज ढूंढना होगा।
2018 की उपलब्धियां गिनाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 2018 भारतीय विज्ञान के लिए अच्छा साल रहा है। इसमें प्रॉडक्शन ऑफ ऐविएशन ग्रेड बाओफ्यूल, दृष्टिबाधित लोगों के लिए दिव्य नयन मशीन, सर्वाइकल कैंसर, टीबी और डेंगू के डायग्नोसिस के लिए सस्सी डिवाइस और रियल टाइम लैंडस्लाइड वार्निंग सिस्टम शामिल हैं।
राहुल का तंज- राफेल की खुली किताब छोड़कर भागे पीएम
इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे पर तंज कसा था। उन्होंने ट्वीट किया, ‘ऐसा लग रहा है कि पीएम संसद और राफेल की खुली किताब परीक्षा छोड़कर भाग गए हैं और इसके बजाय लवली यूनिवर्सिटी में छात्रों को लेक्चर दे रहे हैं। मेरी छात्रों से गुजारिश है कि प्लीज उनसे मेरे 4 सवाल पूछ लीजिए जो मैंने उनके सामने कल पेश किए थे।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »