जरा अलग सा होता है सिल्क की साड़ियों का मिजाज, सही रख रखाव की भी जरूरत

सर्दी का मौसम जाते ही सिल्क की साड़ियों का मिजाज भी बदल जाता है क्योंकि गर्मी में इन्हें पहन पाना थोड़ा मुश्किल है। ऐसे में महिलाएं सर्दी खत्म होते ही इनको संभालने की तैयारी शुरू कर देती हैं।
लेकिन कभी-कभार इन साड़ियों को रखते हुए हम ऐसी गलती कर देते हैं जिसके कारण ये साड़ियां खराब हो जाती हैं।
आमतौर पर सिल्क की साड़ियां दूसरी अन्य साड़ियों के मुकाबले थोड़ी महंगी होती हैं। महंगी होने के साथ-साथ सिल्क की साड़ियों को सही रख रखाव की भी जरूरत होती है। सिल्क की साड़ियां हमेशा अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भी उच्च मांग में रही हैं। इन साड़ियों में प्रयुक्त रेशम की सर्वोच्च गुणवत्ता को देखकर कोई भी मंत्रमुग्ध हो सकता है। ऐसा कहा जाता है कि महिलाएं अधिकतर अपनी सिल्क की साड़ियों को आने वाली पीढ़ी के लिए सहेज कर रखती हैं लेकिन कई बार महिलाएं इन्हें बिना धुलवाए ही बक्से या अलमारी में ठूंस-ठूंसकर रख देती हैं जिससे ये साड़ियां खराब हो जाती हैं। साड़ी कितनी भी महंगी क्यों न हो, यदि उसे सही तरीके से नहीं रखा गया तो इनकी उम्र घट जाती है। ऐसे में आज हमने सोचा क्यों न क्यों न आपको सिल्क की साड़ि‍यों को लंबे समय तक नया बनाए रखने के लिए कुछ जरुरी बातें बता दें।
समय-समय पर तहें बदलते रहना
अगर आप भी अपनी सिल्क की साड़ि‍यों को लंबे समय तक नया बनाए रखना चाहती हैं तो समय-समय पर उनकी तहें बदलती रहिए। ऐसा करने से आपके दो फायदे होंगे एक तो आप समय-समय पर ये जांच कर लेंगी कि कहीं से कोई कीड़ा तो नहीं लग रहा। साथ ही यह भी पता चल जाएगा कि साड़ी का कोई हिस्सा किसी दूसरे कपड़े के साथ चिपक तो नहीं रहा जिससे रंग लगने का डर हो।
सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात इन साड़ियों को स्टोर करते समय उन्हें सूती या मलमल के कपड़े में लपेटकर ही रखें।
हैंगर पर न लटकाएं
सिल्क की साड़ियों को स्टोर करते वक्त इन्हें हैंगर पर न लटकाएं। इससे हैंगर के निशान उस पर पड़ सकते हैं या फिर वहां तह मजबूत बन जाएगी जिससे साड़ी कटने का अंदेशा बना रहता है इसलिए लम्बे समय तक साड़ी को रखने के लिए तह करके किसी ट्रंक या अन्य सुरक्षित बॉक्स में ही रखें। ऐसा करने से आप जब भी साड़ी पहनेंगी आपकी साड़ी एकदम नई जैसी निकलेंगी।
धूप दिखाएं
ऐसा आपने घरों में भी देखा होगा कि जब सर्दियां शुरू होती हैं तो मम्मी या दादी सबसे पहले गर्म कपड़ों को धूप दिखाती हैं। इस तथ्य पर उनका कहना है कि कपड़े में कोई कीड़ा हुआ तो वो खत्म हो जाएगा। साथ ही कपड़े में आ रही स्मेल भी दूर हो जाएगी। ऐसा ही कुछ आपको अपनी सिल्क की साड़ियों के साथ भी करना है। इनको स्टोर करने से ठीक एक दिन पहले आप उन्हें थोड़ी देर के लिए धूप दिखाएं। ऐसा करने से उन साड़ियों की चमक बनी रहेगी।
परफ्यूम की खुशबू उड़ गई हो
अगर आप साड़ी पहनते वक्त परफ्यूम लगाती हैं तो इन्हें स्टोर करने से पूर्व सुनिश्चित कर लें कि परफ्यूम की खुशबू उड़ गई हो। आप साड़ी को हवा लगवाकर खुशबू को समाप्त कर सकती हैं। अगर आप परफ्यूम की खुशबू के साथ ही साड़ियों को स्टोर करती हैं तो साड़ी पर किए काम में कालापन आ सकता है। जिससे इनके ख़राब होने के चांसेस ज्यादा हैं। साथ ही याद रखें कि सिल्क की साड़ियों में कलफ न लगा हो। ड्राईक्लीन करवाते वक्त भी उन्हें पहले बता दें कि वे उसमें अधिक कलफ न लगाएं।
प्रैस करते वक्त पानी का प्रयोग कदापि न करें
अगर आप सिल्क की साड़ियों को प्रैस करके रखना चाहती हैं तो बहुत हल्की प्रैस करें, लेकिन इस दौरान पानी का प्रयोग बिल्कुल न करें। इससे उन पर धब्बे पड़ सकते हैं या जरी काली पड़ सकती है अथवा रंग भी निकल सकता है। प्रैस करते वक्त अगर उस पर दाग-धब्बे पड़े हों तो उसे नरम कपड़े से पोंछ दें या फिर जब धब्बे हट जाएं तो उन्हें पूर्ण रूप से सुखाकर फिर से स्टोर करें।
नैपथेलीन बॉल्स हरगिज न रखें
सिल्क की साड़ियों को कभी भी गर्म कपड़े के साथ स्टोर न करें। हम और आप ज्यादातर गर्म कपड़ों को स्टोर करते समय उनमें नैपथेलीन बॉल्स डाल देते हैं जिससे उनमें कीड़े लगने की संभावना न के बराबर हो जाए लेकिन अगर हमने नैपथेलीन बॉल्स के साथ सिल्क की साड़ियों को भी रख दिया तो उससे उनकी जरी के काम में कालापन आ जाएगा जिसके कारण उनके खराब होने की स्थिति ज्यादा बन जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *